Home /News /nation /

पहले पुलिसवाले से झगड़ा किया, फिर 21 लोगों में फैलाया COVID-19 संक्रमण

पहले पुलिसवाले से झगड़ा किया, फिर 21 लोगों में फैलाया COVID-19 संक्रमण

निदेशक जन स्वास्थ्य को मिशन लाइफ सेविंग का नोडल अधिकारी बनाया गया है.

निदेशक जन स्वास्थ्य को मिशन लाइफ सेविंग का नोडल अधिकारी बनाया गया है.

इंदौर (Indore) में लॉकडाउन (Lockdown) की ड्यूटी में तैनात एक पुलिस कॉन्स्टेबल से झगड़ा करने वाले पिता-पुत्र की जोड़ी की वजह से कम से कम 21 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैला है.

    इंदौर. कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण को रोकने के लिए एक तरफ जहां लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है. वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनकी वजह से दूसरे लोगों में इस वायरस का संक्रमण फैला है. जी हां, इंदौर (Indore) में लॉकडाउन (Lockdown) की ड्यूटी में तैनात एक पुलिस कॉन्स्टेबल से झगड़ा करने वाले पिता-पुत्र की जोड़ी के बारे में बताया जा रहा है कि उनकी वजह से कम से कम 21 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैला. इन 21 लोगों में इंदौर जेल के 18 कैदियों के अलावा, जेल के 2 गार्ड्स और एक IPS अफसर भी शामिल है. इन दोनों को 7 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था. राज्य सरकार अब इन दोनों के साथ-साथ 3 अन्य लोगों के खिलाफ NSA कानून के तहत कार्रवाई करेगी. इस बीच इन दोनों को अन्य कैदियों के साथ जबलपुर जेल भेज दिया गया है.

    रिपोर्ट आने के बाद 125 को किया गया क्वारंटाइन
    अंग्रेजी अखबार द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह बने इन दोनों पिता-पुत्र के नाम नासिर खान और जावेद हैं. इन दोनों की जांच रिपोर्ट 10 अप्रैल को आई थी. पिता की जांच जहां इंदौर में की गई थी, वहीं बेटे का कोरोना टेस्ट इंदौर में किया गया था. इंदौर जेल के एक अधिकारी ने अखबार को बताया कि पिता-पुत्र की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद 125 अन्य कैदियों को जेल की बैरक से हटाकर एक हॉस्टल में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में भेज दिया गया. अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक इन दोनों के अलावा 6 अन्य लोगों के खिलाफ भी इंदौर के कोरोना हॉटस्पॉट में पुलिस कॉन्स्टेबल के ऊपर हमला करने का आरोप है. नाम न बताने की शर्त पर मध्य प्रदेश की COVID-19 कॉम्बेट टीम के एक सदस्य ने अखबार को बताया कि इन सभी 6 लोगों को भी बिना जांच किए जेल में ही रखा गया था.

    जावेद ने किया था भागने का प्रयास
    कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जावेद को जबलपुर भेज दिया गया था. उसे वहां के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से कुछ दिन पहले वह निकल भागा. अस्पताल से निकल एक ट्रक से वह नरसिंहपुर की सीमा तक पहुंच गया था, लेकिन लॉकडाउन की वजह से पुलिस चौकस थी. इसी कारण उसे नरसिंहपुर की सीमा पर दबोच लिया गया. जावेद को जब पुलिस ने पकड़ा था, उस समय वह एक बाइक से इंदौर लौटने की फिराक में था. लेकिन पुलिस की तत्परता से वह पकड़ा गया. उसे पकड़ने में शामिल एक IPS अफसर को क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है.

    यह भी पढ़ें:
    यादें: न जाने क्यों बहुत अखर रहा है, इरफान खान का जाना
    Lockdown के बीच ITBP के इस जवान का यह कोरोना गीत आपके दिल को छू जाएगा..

    Tags: Coronavirus, COVID 19, Father and son spread COVID-19 infection, Indore news, Lockdown

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर