होम /न्यूज /राष्ट्र /LAC पर कैसी है स्थिति, कब है महिला अग्निवीरों को वायुसेना में शामिल करने का प्लान, AIF चीफ ने सब बताया

LAC पर कैसी है स्थिति, कब है महिला अग्निवीरों को वायुसेना में शामिल करने का प्लान, AIF चीफ ने सब बताया

हम हमेशा अलर्ट मोड़ पर रहते हैं, किसी भी तरह के घटना का मुहतोड़ जवाब देने के लिए: IAF chief Air Chief Marshal VR Chaudhari

हम हमेशा अलर्ट मोड़ पर रहते हैं, किसी भी तरह के घटना का मुहतोड़ जवाब देने के लिए: IAF chief Air Chief Marshal VR Chaudhari

Air Chief Marshal Vivek Ram Chaudhari: भारतीय वायुसेना में महिला अग्निवीर बनने की चाहत रखने वाली लड़कियों के लिए अच्छी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

वायुसेना चीफ ने बताया कि अगले साल महिला अग्निवीरों को शामिल करने की योजना है.
एलएसी पर भारत चीनी हरकतों पर नजर रख रहा है- वायुसेना चीफ वी आर चौधरी

नई दिल्ली: चीन से सटे LAC से लेकर भारतीय वायुसेना में महिला अग्निवीरों की भर्ती को लेकर एयरफोर्स चीफ ने बड़ा अपडेट दिया है. एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने मंगलवार को कहा कि वायुसेना में महिला अग्निवीरों को अगले साल से शामिल करने की योजना है. वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी.आर. चौधरी ने कहा कि अग्नीपथ योजना के तहत ‘एयर वॉरियर’ की भर्तियों को सुव्यवस्थित कर दिया गया है और इस साल दिसंबर में 3,000 अग्निवीर वायु को भारतीय एयर फोर्स में शामिल किया जाएगा… महिला अग्निवीरों की भर्ती की योजना अगले साल के लिए बनाई है.

वहीं, पूर्वी लद्दाख में एलएसी के निकट चीन की गतिविधियों पर वायु सेना प्रमुख ने कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन की गतिविधियों की निगरानी जारी है और हम उपयुक्त कदम उठाते हैं. तनाव ना बढ़े, इसके लिए उपयुक्त प्रयास किए जा रहे हैं. एलएससी से लगे इलाकों में डिसइंगेजमेंट की गई है. हम चीनी वायु सेना की गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं. हमने रेडार और वायु रक्षा नेटवर्क की उपस्थिति बढ़ाई है. हमने उचित समय पर गैर-एस्केलेटर उपाय किए हैं.

एलएसी के निकट चीनी विमानों के उड़ने की घटनाओं पर वायु सेना प्रमुख ने कहा कि हवाई सीमा क्षेत्र के उल्लंघन के मामलों को उठाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने के लिए हम सरकार के साथ हैं. भविष्य के युद्धों के लिए सहयोगी बलों के साथ संयुक्त योजना और उनके निष्पादन की आवश्यकता को हम समझते हैं.

उन्होंने आगे कहा कि वैश्विक स्तर पर हाल के घटनाक्रम हमें किसी भी चुनौती से निपटने के लिए मजबूत सेना की आवश्यकता दिखाते हैं. हम हमेशा परिचालन के लिए तैनात और सतर्क रहते हैं. हमारी समग्र तैयारी चीनी आक्रामकता के बजाय एक निरंतर प्रक्रिया है. एलएसी पर स्थिति सामान्य है, यह कहने के लिए पहले की स्थिति में लौटना होगा और सभी बिंदुओं से पूरी तरह से वापसी करनी होगी.

उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना परिवर्तन की राह पर है. सालों से भारतीय वायुसेना ने अपनी क्षमताओं को साबित किया है. हम अब परिवर्तन को आत्मसात करने जा रहे हैं, इसके लिए अपनी इन्वेंट्री, एयरक्राफ्ट और हथियारों को अपग्रेड कर रहे हैं. वहीं, रूस-यूक्रेन युद्ध पर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि यूक्रेन-रूस युद्ध को 6 महिने हो चुके हैं, अभी तक हमें किसी भी स्पेयर पार्ट्स की कमी महसूस नहीं हुई है. हमने पिछले कुछ सालों में स्वदेशी को काफी बढ़ावा दिया है और हमने 62,000 स्पेयर पार्ट्स को यहीं से खरीदा है. इसलिए हमारी निर्भरता यूक्रन, रूस से कम हुई है.

Tags: Indian Airforce

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें