होम /न्यूज /राष्ट्र /सुपरटेक ट्विन टॉवर के गिरने पर आनंद महिंद्रा का ट्वीट, कही दिल को छू लेने वाली बात

सुपरटेक ट्विन टॉवर के गिरने पर आनंद महिंद्रा का ट्वीट, कही दिल को छू लेने वाली बात

आनंद महिंद्रा ने कहा कि कभी-कभी बढ़ते हुए अहंकार को खत्म करने के लिए विस्फोटक की जरूरत पड़ती है.

आनंद महिंद्रा ने कहा कि कभी-कभी बढ़ते हुए अहंकार को खत्म करने के लिए विस्फोटक की जरूरत पड़ती है.

Anand Mahindra tweet on twin towers demolition: उद्योगपति आनंद महिंद्र अक्सर अपने ट्विट से लोगों के दिलों को छूते रहते ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आनंद महिंद्रा ने कहा कभी-कभी बढ़े हुए अहंकार को नष्ट करने के लिए विस्फोटकों की आवश्यकता होती है
आनंद महिंद्रा ने कहा ट्विन टॉवर का गिरना हमारे अहंकार के बढ़ते हुए खतरे की याद दिलाता है
आनंद महिंद्रा अक्सर सोशल मीडिया पर सकारात्मक संदेश देते रहते हैं

नई दिल्ली. उद्योगपति आनंद महिंद्रा कमाल के हाजिरजवाबी हैं. हर मौके के लिए उनका ट्वीट तैयार रहता है. उनके ट्वीट को हजारों लोग पसंद करते हैं. वे अक्सर इननोवेटिव चीजों पर वीडियो शेयर करते रहते हैं. इसमें वे प्यारा सा संदेश भी देते हैं. इस बार उन्होंने नोएडा में सुपरटेक ट्विन टॉवर के ध्वस्त होने का वीडियो शेयर किया है और इस पर दिल को छू लेने वाली बात कही है. आनंद महिंद्रा ने जिस वीडियो को शेयर किया है उसमें सबसे पहले ट्विन टॉवर को धाराशायी होते हुए दिखाया गया. इसके बाद वीडियो में अलग-अलग जगहों से अलग-अलग कोण से बिल्डिंग को गिरते हुए दिखाया गया है. इसके साथ ही आसपास के लोगों की हलचल और इस ध्वस्त होते हुए टॉवरों को कैमरे में कैद करने की बेचैनी को भी वीडियो में देखा जा सकता है.

आनंद महिंद्रा ने इस वीडियो के साथ ही लिखा है कि आज मैं मंडे मोटीवेशन (प्रेरणादायी संदेश) के लिए ध्वस्त होते नोएडा सुपरटेक ट्विन टॉवर के वीडियो का इस्तेमाल क्यों कर रहा हूं. इसके बाद आनंद महिंद्रा खुद इसका जवाब देते हुए कहते हैं, “क्योंकि यह हमारे अहंकार के बढ़ते हुए खतरे की याद दिलाता है.” उन्होने आगे लिखा है कि “कभी-कभी हमें अपने इस बढ़े हुए अहंकार को नष्ट करने के लिए विस्फोटकों की आवश्यकता होती है.

एक दिन पहले ही आनंद महिंद्रा ने एक वीडियो पोस्ट कर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नीतिन गडकरी से एक मांग की थी. उन्होंने एक खूबसूरत वीडियो पोस्ट किया था जिसमें एक सड़क दोनों तरफ से पेड़ों से ढका हुआ है. जब गाड़ी इस सड़क के अंदर प्रवेश करती है तो ऐसा लगता है कि यह सुरंग होकर गुजर रही है. आनंद महिंद्रा ने नीतिन गडकरी से भारत में भी ऐसी सड़के बनाने की गुजारिश की.  उन्होंने इस सड़क को ‘ट्रनेल’ नाम दिया है. यह शब्द पेड़ों के लिए ट्री और सुरंग के लिए टनल से मिलकर बना है. उन्होंने नितिन गडकरी को टैग करते हुए लिखा कि, “मुझे सुरंगें पसंद हैं, लेकिन सच कहूं, तो मैं इस तरह के ‘ट्रनेल’ से गुजरना पसंद करूंगा.” उन्होंने लिखा कि आपके द्वारा जो नई ग्रामीण सड़कें बनाई जा रही हैं उन सड़कों पर ऐसे ही पेड़ों की सुरंगे लगाई जा सकती है.

Tags: Anand mahindra, Trending news, Viral video

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें