पीएम केयर्स फंड में सबसे पहले PM मोदी ने दान किए सवा 2 लाख रुपये, पहले 5 दिन में जमा हुए 3,076 करोड़

पीएम केयर्स फंड में सबसे पहले PM मोदी ने दान किए सवा 2 लाख रुपये, पहले 5 दिन में जमा हुए 3,076 करोड़
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

PM CARES Fund: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दान को लेकर लंबा इतिहास रहा है. प्रधानमंत्री मोदी पिछले साल जब कुंभ मेले में गए थे तो उन्‍होंने अपनी निजी बचत से सफाई कर्मचारियों के कल्‍याण के लिए बनाई गई निधि में 21 लाख रुपये दान किए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 3:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पीएम केयर्स फंड (PM CARES Fund) लगातार विपक्ष के निशाने पर रहा है और इसको लेकर पीएम से सफाई भी मांगता रहा हैं. लेकिन जो तथ्य सामने हैं उसके मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने खुद पीएम केयर्स फंड में पहला अंशदान किया था. कोरोना (Coronavirus) महामारी को लेकर केंद्र सरकार ने पीएम केयर्स फंड का गठन इसी साल 27 मार्च को किया, इस फंड में पीएम ने 2 लाख 25 हज़ार की शुरुआती अंशदान किया. ये अंशदान प्रधानमंत्री ने अपनी सैलरी के बचत से किया है.

पहले 5 दिन में जमा हुए  3,076 करोड़
साल 2019-20 के लिए पीएम केयर्स फंड के वार्षिक ऑडिट के मुताबिक पहला अंशदान सवा दो लाख रुपये का था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए बाकायदा अपील की थी कि लोग बढ़ चढ़ कर इस फंड में अपना योगदान करे. पीएम की अपील का असर ये रहा की इस फंड में शुरुआती 5 दिन के भीतर ही 3,076 करोड़ रुपये जमा हो गए.

दान का लंबा इतिहास है पीएम मोदी का
>>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दान को लेकर लंबा इतिहास रहा है. प्रधानमंत्री मोदी पिछले साल जब कुंभ मेले में गए थे तो उन्‍होंने अपनी निजी बचत से सफाई कर्मचारियों के कल्‍याण के लिए बनाई गई निधि में 21 लाख रुपये दान किए थे.



>>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को साउथ कोरिया से सियोल पीस प्राइज के तौर पर एक करोड़ 30 लाख रुपये मिले थे, इस रकम को प्रधानमंत्री ने 'नमामि गंगे' प्रोजेक्‍ट को दे दिया था.

>>2014 में नरेंद्र मोदी ने जब गुजरात के मुख्‍यमंत्री का पद छोड़ा, तब उन्होंने राज्‍य सरकार के स्‍टाफ के लिए निजी बचत से 21 लाख रुपये दान दिए थे.

>>नरेंद्र मोदी ने गुजरात सीएम रहते हुए गिफ्ट्स के जरिए 89.96 करोड़ रुपये जुटाए थे. उन्‍होंने सारी रकम कन्‍या केलवणी फंड में दान कर दी और पैसा बच्‍चों की शिक्षा पर खर्च हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज