• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • INJECTION OF BLACK FUNGUS BECAME CHEAPER NITIN GADKARI LAUNCHES

सस्ता हुआ ब्लैक फंगस का इंजेक्शन, नितिन गडकरी ने कहा- अगले हफ्ते से 1200 रुपये में होगा वितरण

महाराष्ट्र की कंपनी जेनेटिक लाइफ साइंसेज ने इंजेक्शन का निर्माण शुरू किया है. (फोटो: Twitter/@OfficeOfNG)

Black Fungus Injection: कार्यालय की तरफ से जारी जानकारी के अनुसार, इस एक इंजेक्शन की कीमत 1200 रुपये होगी. एक अन्य ट्वीट में बताया गया, 'सोमवार से इस इंजेक्शन का वितरण शुरू होगा और इसकी कीमत 1200 रुपये होगी. अभी यह इंजेक्शन 7000 रुपये तक मिल रहा है.'

  • Share this:
    नई दिल्ली. म्यूकरमाइकोसिस (Mucormycosis) के बढ़ते संकट के बीच एक अच्छी खबर है. महाराष्ट्र की एक कंपनी ने एम्फोटेरेसिन बी इमल्शन इंजेक्शन्स का निर्माण शुरू कर दिया है. इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) के कार्यालय ने दी है. खास बात है कि इस नई निर्माण व्यवस्था के साथ ही इंजेक्शन की दरों में भी काफी कमी आएगी. देश के कई राज्यों से इस फंगल इंफेक्शन के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली दवा की कमी की खबरें आई थीं.

    महाराष्ट्र की कंपनी जेनेटिक लाइफ साइंसेज ने इंजेक्शन का निर्माण शुरू किया है. गुरुवार को केंद्रीय मंत्री के कार्यालय की तरफ से ट्वीट किया गया, 'केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी जी की कोशिशों से कोविड के बाद तेज़ी से फैल रहे ब्लैक फंगस इन्फेक्शन के इलाज के लिए वर्धा में जेनेटेक लाइफ साइन्सेस ने Amphotericin B Emulsion इंजेक्शन तैयार कर लिया है. अब तक भारत में एक ही कंपनी इसका उत्पाद करती थी.'

    कार्यालय की तरफ से जारी जानकारी के अनुसार, इस एक इंजेक्शन की कीमत 1200 रुपये होगी. एक अन्य ट्वीट में बताया गया, 'सोमवार से इस इंजेक्शन का वितरण शुरू होगा और इसकी कीमत 1200 रुपये होगी. अभी यह इंजेक्शन 7000 रुपये तक मिल रहा है.'

    यह भी पढ़ें: केंद्र ने कहा- अभी कोई देश नहीं दे रहा बच्चों को वैक्सीन, भारत में जल्द शुरू होगा ट्रायल

    अब तक 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने म्यूकरमाइकोसिस को महामारी बीमारी अधिनयम 1987 के तहत महामारी घोषित कर दिया है. इन राज्यों में दिल्ली, बिहार, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, तेलंगाना का नाम शामिल है. कोविड-19 का उपचार करा रहे या बीमारी से उबर चुके मरीज ब्लैक फंगस का ज्यादातर शिकार हो रहे हैं. इससे बचने के लिए एक्सपर्ट्स ने मरीजों पर स्टेरॉयड के विवेकपूर्ण इस्तेमाल की सलाह दी है.

    केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने बुधवार को बताया था कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एम्फोटेरेसिन बी के 29 हजार 250 अतिरिक्त वायल्स आवंटित किए गए थे. यह वितरण मरीजों की संख्या के आधार पर किया गया था. मंत्रालय ने जानकारी दी थी कि इससे पहले पूरे देश में 24 मई को 19 हजार 420 और 21 मई को 23 हजार 680 वायल बांटे गए थे.