INX Media Case: चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया नया हलफनामा, हो सकता है लाई डिटेक्टर टेस्ट

News18Hindi
Updated: August 27, 2019, 6:06 PM IST
INX Media Case: चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया नया हलफनामा, हो सकता है लाई डिटेक्टर टेस्ट
आईएएक्स मीडिया केस में पी. चिदंबरम सीबीआई और ईडी की जांच का सामना कर रहे हैं

INX Media Case में पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) की पैरवी कर रहे कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने कोर्ट में ईडी अधिकारियों की जांच के तरीके पर सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि इससे पहले जो भी पूछताछ हुई हैं, उसकी ट्रांसक्रिप्ट कोर्ट के सामने रखी जानी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2019, 6:06 PM IST
  • Share this:
पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) आईएनएक्स मीडिया (INX Media) केस में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ED) की जांच का सामना कर रहे हैं. चिदंबरम की याचिका पर मंगलवार को भी सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई हुई. इस दौरान सीबीआई और ईडी ने जवाब दिया. सुनवाई पूरी नहीं होने के कारण चिदंबरम को ईडी की गिरफ्तारी से एक और दिन के लिए राहत मिल गई है. इसके बाद चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में नया हलफ़नामा दाखिल किया है.

चिदंबरम ने नए हलफनामे में आरोप लगाया है राजनीतिक मतभेद के कारण उन्हें निशाना बनाया जा रहा है. चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि मुझे निशाना बनाकर सताया जा रहा है. उनका कहना है कि मेरी प्रतिष्ठा को धूमिल करने के लिए मुझपर आरोप लगाए जा रहे हैं.

आरोपों को किया खारिज
चिदंबरम ने ईडी के विदेश में बैंक खातों और संपत्ति के आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि उन्हें आशंका है कि ईडी उन्हें हिरासत में लेने के लिए गलत तरीकों का इस्तेमाल कर रही है. उनका कहना है कि एजेंसी के मनमुताबिक बयान देने के लिए उन्हें हिरासत में नहीं भेजा जा सकता है.

चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट को दिए अपने प्रत्युत्तर में कहा है कि ईडी को फ्री हैंड नहीं मिल सकता है. चिदंबरम ने कहा है कि मैं किसी विदेशी कंपनी का लाभकारी मालिक या निर्माता या फिर इन्कॉर्पोरेटर नहीं हूं.

इंद्राणी से सामना करा सकती है ED और CBI
सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई और ईडी चिदंबरम के जवाब से संतुष्ट नहीं है. इसलिए सीबीआई अब इंद्राणी मुखर्जी से चिदंबरम का आमना-सामना कराएगी. वहीं, सूत्र ये भी बताते हैं कि सीबीआई कोर्ट से पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम का साइंटिफिक टेस्ट कराने की अर्जी भी लगा सकती है. चिदंबरम का लाई डिटेक्टर टेस्ट हो सकता है.
Loading...

चिदंबरम की ओर से सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्होंने पूछताछ में जवाब तो दिए हैं, लेकिन सीबीआई उनके मुंह से वही कहलवाना चाहती है जो उसे सुनना पसंद है. सीबीआई कहीं से कुछ भी कॉपी करके बोल रही है. सिब्बल ने चिदंबरम के लिए सीबीआई अधिकारियों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्दों पर भी ऐतराज जाहिर किया.

सिब्बल ने मांगी पूछताछ की ट्रांसक्रिप्ट
इसके पहले चिदंबरम की पैरवी कर रहे कपिल सिब्बल ने कोर्ट में ईडी अधिकारियों की जांच के तरीके पर सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि इससे पहले जो भी पूछताछ हुई हैं, उसकी ट्रांसक्रिप्ट कोर्ट के सामने रखी जानी चाहिए. इससे पहले दिसंबर 2018, दिसंबर 2019 में पूछताछ हुई थी. उन्होंने अदालत में कहा कि ED कोर्ट को बताए कि उन्होंने चिदंबरम को दस्तावेजों से कम्फ्रंट कराया या नहीं. सिब्बल ने कहा कि ईडी की तरफ से दस्तावेज अचानक लाए जा रहे हैं.

वहीं, चिदंबरम के दूसरे वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि अगर ईडी पूछताछ में सवाल पूछ रही है, तो आरोपी ने क्या जवाब दिया, वो भी कोर्ट में बताना होगा. केस डायरी जो दिखाई जा रही है, उसमें ये शामिल होना चाहिए.


चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से लगा बड़ा झटका

बता दें कि सोमवार को चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से तगड़ा झटका लगा था. दरअसल, उन्होंने अग्रिम जमानत रद्द करने के दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया. कोर्ट ने कहा कि चिदंबरम पूछताछ के लिए पहले से ही सीबीआई कस्टडी में हैं, लिहाजा उनकी याचिका निष्प्रभावी हो जाती है. अदालत ने चिदंबरम को नए सिरे से याचिका दायर करने को कहा है.

इसके बाद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया, जहां उनकी कस्टडी 3 दिनों तक बढ़ा दी गई. चिदंबरम अब 30 अगस्त तक सीबीआई की हिरासत में रहेंगे.

12 देशों में प्रॉपर्टी 
सुप्रीम कोर्ट में दायर ऐफिडेविट में जांच एजेंसी ने दावा किया है कि चिदंबरम के कई देशों में बैंक खाते हैं. ED के मुताबिक चिदंबरम और केस के सह-आरोपियों के 12 देशों में प्रॉपर्टी है. ये देश हैं अर्जेंटीना, ऑस्ट्रिया, ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड, फ्रांस, ग्रीस, मलयेशिया, मोनाको, फिलीपींस, सिंगापुर, साउथ अफ्रीका, स्पेन और श्री लंका. यहां प्रॉपर्टी के साथ साथ-साथ इनके बैंक अकाउंट भी हैं. इन सबने शेल कंपनियों के जरिए इन देशों के बैंक खातों में लेन-देन का काम किया गया.

CBI के वकील ने कोर्ट को बताया- सवालों पर कानून की किताब पढ़ने लगते हैं चिदंबरम

INX Media Case: ED का दावा, 12 देशों में फैली है पी चिदंबरम की करोड़ों की प्रॉपर्टी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 12:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...