लाइव टीवी

INX Media Case : चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई कल तक के लिए टली

News18Hindi
Updated: September 23, 2019, 6:10 PM IST
INX Media Case : चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई कल तक के लिए टली
जस्टिस सुरेश कैत दिन में बाद में चिदंबरम की जमानत अर्जी पर सुनवाई की. हालांकि सोमवार को बहस पूरी न हो पाने के कारण यह मंगलवार को भी जारी रहेगा.

जस्टिस सुरेश कैत दिन में बाद में चिदंबरम की जमानत अर्जी पर सुनवाई की. हालांकि सोमवार को बहस पूरी न हो पाने के कारण यह मंगलवार को भी जारी रहेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2019, 6:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले (Inx Media Scam) में गिरफ्तार कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम (P chidambaram) ने सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High court) में इस बात से इनकार किया कि उन्होंने वित्तमंत्री के पद का इस्तेमाल निजी लाभ के लिए किया.

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट में चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई हुई. सीबीआई, चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध कर रही है. सोमवार को सुनवाई पूरी न होने के कारण मंगलवार को भी होगी.

चिदंबरम ने अपनी जमानत याचिका पर केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई CBI) के जवाब का प्रत्युत्तर देते हुए कहा कि उनके खिलाफ लुक आउट नोटिस पहले से ही जारी है और यह आरोप लगाना ठीक नहीं है कि उनके भागने की आशंका है और वह कानून की प्रक्रिया से बचने की कोशिश कर सकते हैं.

मंजूर सीमा में था FDI - पूर्व वित्तमंत्री

पूर्व वित्तमंत्री ने वर्तमान मामले में जनता के भरोसे को स्पष्ट रूप से तोड़ने के सीबीआई के आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि आईएनएक्स मीडिया में जो 305 करोड़ रुपये प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के तौर पर आये वह मंजूर 46.216 प्रतिशत की सीमा में ही था.

उन्होंने अपने जवाब में जांच एजेंसी के इस दावे से भी इनकार किया कि अपराध में उन पर अभियोग लगाने के लिए ठोस सबूत रिकार्ड में है और उनके खिलाफ एक मजबूत मामला बनता है.

सरकारी खजाने को कोई नुकसान नहीं - चिदंबरम
Loading...

चिदंबरम ने इस आरोप से भी इनकार किया कि उन्होंने अपने सहयोगी षड्यंत्रकारियों के साथ मिलकर वित्तमंत्री के पद का इस्तेमाल अपने निजी लाभ के लिए किया. उन्होंने साथ ही दावा किया कि इस मामले में सरकारी खजाने को कोई नुकसान नहीं हुआ.

उन्होंने जवाब में कहा, ‘इस मामले में कोई सार्वजनिक राशि शामिल नहीं थी और यह कोई बैंक धोखाधड़ी या धनराशि देश के बाहर ले जाने या राशि चुराकर निवेशकों से धोखाधड़ी करने का मामला नहीं है.’

चिदंबरम ने कहा कि इंद्राणी मुखर्जी (Indrani Mukherjee)की कोई विश्वसनीयता नहीं है जो कि भ्रष्टाचार मामले में सरकारी गवाह बन गई है क्योंकि सीबीआई उसके और उसके पति के खिलाफ हत्या के मामले में जांच कर रही है।

जस्टिस सुरेश कैत दिन में बाद में चिदंबरम की जमानत अर्जी पर सुनवाई की.

 वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि - 

अदालत में चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि INX मीडिया केस में चिदंबरम के खिलाफ FIR दर्ज नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि सीबीआई मामले में चिदंबरम को केवल एक बार पूछताछ के लिए बुलाया गया था. सिब्बल ने कहा कि पी चिदंबरम 15 दिनों की सीबीआई हिरासत में रह चुके है, इस समय वो न्यायिक हिरासत में है. पी चिदंबरम समाज में एक प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं.

सिब्बल ने कहा कि INX मीडिया के लिए FIPB अप्रूवल दिया गया था जो तत्कालीन 6 सचिवों से हो कर गुजरा था, जिनमें से एक RBI गवर्नर बने. सिब्बल ने कहा कि सभी सेक्रेटरी ने अप्रूवल को हरी झंडी दी थी. ऐसा कोई आरोप नहीं की सेक्रेटरी को प्रभावित किया हो. उन्होंने कहा कि किसी भी सेक्रेटरी ने ये बयान नहीं दिया कि मैंने उनको प्रभवित किया. किसी भी सेक्रेटरी के खिलाफ कोई करवाई नही की गई.

यह भी पढ़ें:  तिहाड़ जेल जाकर सोनिया-मनमोहन ने जाना चिदंबरम का हाल

भाषा इनपुट के साथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 23, 2019, 5:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...