INX Media Case : चिदंबरम को मिलेगी राहत या बढ़ेगी सीबीआई रिमांड, आज होगा फैसला

News18Hindi
Updated: September 2, 2019, 6:27 AM IST
INX Media Case : चिदंबरम को मिलेगी राहत या बढ़ेगी सीबीआई रिमांड, आज होगा फैसला
दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट से बाहर निकलते पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम. (फाइल फोटो)

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) की तीसरी याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में भी सुनवाई की जाएगी. इस याचिका में चिदंबरम ने सीबीआई (CBI) रिमांड को चुनौती दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 2, 2019, 6:27 AM IST
  • Share this:
आईएनएक्स मीडिया केस (INX Media Case) में आरोपी कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) की जमानत पर दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट (Rouse avenue court) में आज सुनवाई की जाएगी. सुनवाई के दौरान आज तय होगा कि चिदंबरम को जमानत मिलेगी या फिर अभी कुछ दिन और उन्हें सीबीआई (CBI) की रिमांड पर रहना होगा. पिछली सुनाई के दौरान राउस एवेन्यू कोर्ट ने चिदंबरम को दो सितंबर तक सीबीआई की रिमांड पर रखने का आदेश दिया था. इसके अलावा पी चिदंबर की तीसरी याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में भी सुनवाई की जाएगी. इस याचिका में चिदंबरम ने सीबीआई रिमांड को चुनौती दी है.

याचिका में कहा गया है कि पी चिदंबरम को रिमांड पर लेने से पहले निचली अदालत को जमानती वारंट जारी करना चाहिए था, उसके बाद गैर जमानती वारंट जारी किया जाना चाहिए था. लेकिन ऐसा नहीं किया गया लिहाजा चिदंबरम की सीबीआई रिमांड गैरकानूनी है. इससे पहले ईडी केस में चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो चुकी है. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा हुआ है. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में अपना फैसला 5 सितंबर को सुनवाएगी. जब तक इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट फैसला नहीं सुनाता जब तक ईडी चिदंबरम को गिरफ्तार नहीं कर सकती है. कोर्ट ने इस मामले में ईडी से 3 दिनों में ट्रांसस्क्रिप्ट दायर करने को कहा था.

who is justice sunil gaur who rejected p chidambaram bail and now going to lead pmla appellate tribunal
सीबीआई की हिरासत में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम.


इसे भी पढ़ें :- INX मीडिया केस: ऐसा क्या हुआ? कुछ और दिन CBI की कस्टडी में रहना चाहते हैं चिदंबरम

गौरतलब है कि रॉउज एवेन्यू कोर्ट में पिछली सुनवाई के दौरन दोनों पक्षों की जिरह के बाद विशेष जज अजय कुमार कुहाड़ ने आदेश में कहा था कि आरोपी से गहन पूछताछ की गई है और कई दस्तावेजों से उसका सामना भी कराया गया है. हालांकि जैसा सीबीआई के अधिकारियों ने बताया है कि आरोपी जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं.

INX Media Case, Congress, P Chidambaram, CBI, Supreme Court, Rouse Avenue Court
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सीबीआई रिमांड को चुनौती दी है.


क्या है पूरा मामला?
Loading...

15 मार्च 2007 को INX मीडिया ने एफआईपीबी की स्वीकृति के लिए वित्त मंत्रालय के सामने आवेदन किया, जिसमें एफआईपीबी ने 18 मई 2017 को इसके लिए सिफारिश की. लेकिन बोर्ड ने INX मीडिया द्वारा INX न्यूज़ में अप्रत्यक्ष रूप से निवेश की अनुमति नहीं दी. यहां तक कि INX मीडिया के लिए भी एफआईपीबी ने सिर्फ 4.62 करोड़ रुपये से ज्यादा के FDI निवेश की अनुमति नहीं दी. सीबीआई के अनुसार INX मीडिया ने नियमों को नजरअंदाज किया और जानबूझकर INX न्यूज़ में 26 प्रतिशत के लगभग निवेश किया. यही नहीं उन्होंने 800 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से अपने शेयर को जारी करके INX मीडिया के लिए 305 करोड़ की एफडीआई जुटाई जबकि उन्हें सिर्फ 4.62 करोड़ रुपये एफडीआई की ही अनुमति थी.

इसे भी पढ़ें :- ईडी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, गिरफ्तारी रुकवाने के लिए चिदंबरम खुद को पीड़ित के तौर पर पेश कर रहे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 2, 2019, 5:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...