• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • क्या हिंदू वोट बैंक के लिए कांग्रेस पार्टी कर रही है ‘संत महंत सम्मेलन’

क्या हिंदू वोट बैंक के लिए कांग्रेस पार्टी कर रही है ‘संत महंत सम्मेलन’

कांग्रेस नेता संजय निरुपम

कांग्रेस नेता संजय निरुपम

हिंदुओं के खिसकते जनाधार ने कांग्रेस को एक बार फिर संत महंतों के पास आने पर मजबूर कर दिया है.

  • Share this:
हिंदुओं के खिसकते जनाधार ने कांग्रेस को एक बार फिर संत महंतों के पास आने पर मजबूर कर दिया है. इसका ताजा उदाहरण मुंबई कांग्रेस की तरफ से किया गया ‘संत महंत सम्मेलन’ है. कांग्रेस ने इस सम्मेलन को करने के लिए करीब एक महीने की तैयारी की. लेकिन सम्मेलन में भीड़ जुटा पाने में कांग्रेस नेता संजय निरुपम नाकाम रहे.

मुंबई कांग्रेस द्वारा नव गठित संत महंत कांग्रेस के पहले सम्मेलन में हिस्सा लेने में संतों ने रुचि नहीं दिखाई. मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम की मौजूदगी में सांताक्रूज पूर्व के हनुमान मंदिर पर आयोजित इस सम्मेलन में कुछ कांग्रेस कार्यकर्ता ही पहुंचे. इस दौरान पार्टी के संत महंत प्रकोष्ठ के संयोजक ओमदासजी महाराज ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा उठाया.

उन्होंने कहा कि जैसे मुस्लिमो के लिए मदीना और ईसाइयों के लिए रोम पवित्र भूमि है. वैसे ही हमारे लिए राम जन्मभूमि आयोध्या का महत्व है. तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने राम मंदिर का ताला खुलवाया था. सम्मेलन के लिए निरुपम खुद संतों-महंतों को आमंत्रित करने गए थे. लेकिन महानगर के कुछ छोटे मंदिरों के पुजारियों को छोड़ कर कोई नहीं आया. इस कार्यक्रम में खार के एक मंदिर पर रहने वाले बाबा ने कहा कि ' मेरा किसी पार्टी से कोई लेना देना नहीं, यहाँ दक्षिणा मिलने वाला है, इसलिए आया हूं.'

इस मौके पर मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष निरुपम ने कहा कि कांग्रेस की गलत छवि बनाई गई है. यह पार्टी हिन्दू विरोधी नहीं है. मैं खुद कट्टर हिन्दू हूं. उन्होंने कहा कि कुछ लोग हिंदुत्व के नाम पर हिंसा फैला रहे हैं. कांग्रेस भी गोहत्या की विरोधी रही है. लेकिन हम सरे राह किसी को पीट पीट कर हत्या नहीं करते. हिन्दू धर्म हमेशा से धर्मनिरपेक्ष रहा है. इस धर्म ने सभी को स्वीकार किया है. निरुपम ने कहा कि यह जल्द ही पार्टी की तरफ से बड़ा संत सम्मेलन किया जाएगा. कांग्रेस नेता ने कहा कि हम बीएमसी द्वारा कोई मंदिर तोड़ने नहीं देंगे.

कांग्रेस पार्टी में साधु संतों का प्रकोष्ठ बनाये जाने से पार्टी में नाराजगी है. निरुपम के इस कदम से पार्टी के नेता असहज महसूस कर रहे हैं. महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री व कांग्रेस विधायक नसीम खान ने मुंबई कांग्रेस के पहले संत महंत सम्मेलन में राममंदिर की वकालत किये जाने पर कहा है कि यह कांग्रेस पार्टी की भूमिका नहीं हो सकती. यह निरुपम का व्यक्तिगत विचार है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज