लाइव टीवी

क्या लॉकडाउन के बाद आपका दफ्तर सुरक्षित और स्वच्छ है? जानिए GRIHA काउंसिल के टूल से

News18Hindi
Updated: May 10, 2020, 10:25 PM IST
क्या लॉकडाउन के बाद आपका दफ्तर सुरक्षित और स्वच्छ है? जानिए GRIHA काउंसिल के टूल से
ऑफिस खोलने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा कुछ खास दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं.

150 से अधिक संगठनों और व्यक्तियों ने अब तक BFI टूल का उपयोग करने के लिए पंजीकरण किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद कोरोनावायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए, GRIHA काउंसिल ने भारत में कार्यस्थलों के लिए सुरक्षा और स्वच्छता मानकों का आकलन करने के लिए एक स्व-मूल्यांकन ऑनलाइन टूल बिल्डिंग फिटनेस इंडिकेटर (BFI) लॉन्च किया है. GRIHA काउंसिल ने इस टूल को विकसित किया है और लॉकडाउन के बाद संगठनों को अपने कार्यस्थलों को सुरक्षित और साफ़ रखने के लिए मुफ्त सेवा के रूप में पेश किया जा रहा है.

इसे व्यावसायिक इमारतों के कार्यालयों को विशेषता पूर्वक ध्यान में रखते हुए डिज़ाइन किया गया है. बिल्डिंग फिटनेस इंडिकेटर का उद्देश्य है. कार्यालय जाने वालों को यह विश्वास दिलाना कि यह इमारत सुरक्षित है और वर्तमान महामारी की स्थिति में काम करने के लिए उपयुक्त है. कार्यबल के स्वास्थ्य, कल्याण और मनोबल को बढ़ाना, उत्पादकता और व्यावसायिक प्रक्रियाओं को बढ़ाना.

यह उपकरण विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW), भारत सरकार, द इंडियन सोसाइटी ऑफ हीटिंग, रेफ्रिजरेटिंग और एयर कंडीशनिंग इंजीनियर्स (ISHRAE) और अन्य के सुरक्षा दिशानिर्देशों के उच्चतम मानकों के अनुसार, तीन श्रेणियों - कार्यस्थल, कार्यबल, और जागरूकता के आधार पर एक इमारत के स्वच्छता और सुरक्षा का मूल्यांकन करता है.



बीएफआई सभी आवश्यक नीतियों जैसे कि अपशिष्ट प्रबंधन, इमारत का उचित रखरखाव, कोविड -19 के लिए सरकारी दिशानिर्देशों, और पोस्ट-लॉकडाउन चरण के बाद सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए  कार्यस्थल का मूल्यांकन करता है. इसके अलावा, यह टूल काम करने वालों के लिए स्वस्थ कार्य वातावरण प्रदान करने के लिए कुछ विशेष पहलुओं के आधार पर आदर्श कार्यशील परिस्थितियों का मूल्यांकन करता है, जिसमें हवा का संचालन, दफ्तर के भीतर का तापमान अन्य शामिल है.



यह टूलअन्य प्रमुख मापदंडों के आधार पर कार्यस्थल के स्वास्थ्य को भी मापता है, जिसमें पीने के पानी की उपलब्धता और सुरक्षित पहुंच,  COVID-19 को ध्यान में रखते हुए एहतियात के तौर पर एक जगह सुनिश्चित करना और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के मानदंड शामिल हैं.

इंडिकेटर के बारे में बताते हुए श्री संजय सेठ, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, GRIHA काउंसिल और वरिष्ठ निदेशक, सस्टेनेबल हैबिटेट प्रोग्राम, TERI, ने कहा, “BFI एक आत्म-मूल्यांकन टूल है जिसे GRIHA काउंसिल द्वारा एक सामाजिक पहल के रूप में विकसित किया गया है. GRIHA काउंसिल हमेशा 'What gets measured, gets managed ' के अंतर्निहित सिद्धांतों पर काम करता है. BFI को वैश्विक और राष्ट्रीय स्तर पर जारी दिशानिर्देशों के आधार पर विकसित किया गया है. हालांकि, टूल कोई रेटिंग या प्रमाणीकरण नहीं है, बल्कि यह टूल एक सलाहकार की तरह काम करेगा. और हम सभी संगठनों को इस टूल का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं ताकि कार्यस्थल को COVID-19 का जोखिम रोकने के लिए मार्गदर्शन प्रदान किया जा सके."

इसी विषय पर 28 अप्रैल को GRIHA काउंसिल द्वारा आयोजित एक वेबिनार में स्विट्जरलैंड, यूएई, नेपाल, श्रीलंका आदि देशों के प्रतिभागियों के साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बीएफआई में दिलचस्पी देखी गयी है. पर्यावरण कार्यकर्ता और पहाड़पुर बिजनेस सेंटर एंड सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी इन्क्यूबेटर पार्क के सीईओ, कमल मीटाल ने इस अवसर पर कहा, "बिल्डिंग फिटनेस इंडिकेटर टूल का उपयोग करना सरल है जो आकलन करता है कि क्या कार्यस्थल अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए अपेक्षाकृत सुरक्षित है. GRIHA काउंसिल की यह पहल बहुत अहम है. "

COVID-19 संकट के वक़्त में सुरक्षा मानकों की तत्काल आवश्यकता के बारे में बात करते हुए, डॉ अजय माथुर, महानिदेशक, TERI, और अध्यक्ष, GRIHA काउंसिल, ने कहा, “अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने 28 अप्रैल को विश्व कार्यस्थल स्वास्थ्य व सुरक्षा दिवस के रूप में घोषित किया. GRIHA काउंसिल के लिए बिल्डिंग फिटनेस इंडिकेटर टूल पर एक वेबिनार आयोजित करने के लिए यह एक बेहतर दिन है जो संगठनों को उनके कार्यस्थलों की स्वच्छता और सुरक्षा की तत्परता के स्तर का आकलन करने में सक्षम बनाता है. COVID-19 संकट से लड़ने के बीच में GRIHA काउंसिल द्वारा BFI एक बहुत ही सामयिक पहल है.”

कोई भी संगठन जो अपने कार्यस्थल की तत्परता का मूल्यांकन करना चाहते हैं, वे www.bfi.grihaindia.org पर जा सकते हैं और टूल का उपयोग करने के लिए साइन अप कर सकते हैं. यहां तक कि लॉकडाउन के बाद भी यह टूल किसी भी संगठन / व्यक्ति के लिए उपलब्ध होगा जो अपने कार्यस्थल की तत्परता का आकलन करना चाहते हैं. यदि आप टूल के बारे में अधिक जानने में रुचि रखते हैं, तो कृपया www.bfi.grihaindia.org/checklist पर जाएं.

GRIHA द्वारा BFI टूल का परिचय https://www.teriin.org/sites/default/files/files/BFITool-intro.pdf

GRIHA कॉउंसिल के बारे में जानिए

GRIHA (इंटीग्रेटेड रेटिंग फॉर इंटीग्रेटेड हैबिटैट असेसमेंट): भारत में ग्रीन बिल्डिंग्स के लिए राष्ट्रीय रेटिंग प्रणाली है. यह कुछ चुनिंदा मापदंडो के आधार पर बिल्डिंग्स को रेटिंग देती है. इमारत की ऊर्जा क्षमता और उसके पर्यावरण पर प्रभाव जैसे मापदंड इसमें शामिल हैं. यह रेटिंग उपकरण है एक इमारत के आने वाले सालों को ध्यान में रखते हुए मात्रात्मक और गुणात्मक मानदंडों के आधार पर मूल्यांकन करता है.GRIHA रेटिंग का प्रारूप और विकास GRIHA काउंसिल द्वारा किया गया है जो कि द एनर्जी रिसर्च इंस्टीट्यूट (TERI) और नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE), भारत सरकार द्वारा स्थापित एक स्वतंत्र नॉट-फॉर-प्रॉफिट सोसायटी है.

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें:
GRIHA Council – Santhosh Ramkumar: santhosh.ramkumar@grihaindia.org
Edelman – Rakhi Aurora: rakhi.aurora@edelman.com

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 10, 2020, 10:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading