लाइव टीवी

ISI और पाकिस्तानी सेना आतंकियों की भारत में दाखिल कराने के लिए बनवा रही नया मैप

Sandeep Bol | News18Hindi
Updated: October 20, 2019, 9:39 AM IST
ISI और पाकिस्तानी सेना आतंकियों की भारत में दाखिल कराने के लिए बनवा रही नया मैप
भारत में आतंकी लगातार घुसैपठ की कोशिश कर रहे हैं लेकिन भारतीय सेना उनके मंसूबों को फेल कर दे रही है.

गाइड (Guide) आतंकियों (Terrorist) को न केवल भारतीय सेना (Indian Army) की नजरों से बचाकर सीमा पार कराते हैं बल्कि भारतीय इलाकों में सुरक्षित पहुंचाने का भी काम करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2019, 9:39 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय सीमा (Indian Border) में दाखिल होने की कोशिश में नाकाम होने के बाद पाकिस्तान की सेना (Pakistani Army) और आईएसआई (ISI) ने अब नए सिरे से भारतीय इलाके के नक्शे (Map) बनाने का काम शुरू किया है. इन नक्शों को बनाने की जिम्मेदारी उन गाइडों को सौंपी गई है जो आतंकियों को हमेशा घुसपैठ के लिए मदद करते हैं. ये गाइड (Guide) आतंकियों (Terrorist) को न केवल भारतीय सेना (Indian Army) की नजरों से बचाकर सीमा पार कराते हैं बल्कि भारतीय इलाकों में सुरक्षित पहुंचाने का भी काम करते हैं.

सितंबर के महीने में बाकायदा आईएसआई ने आतंकियों को नया फ़रमान जारी किया है. इसके तहत
सर्दियों में भारी बर्फबारी के बीच आतंकियों को भारत में दाखिल कराने के लिए गाइडों को भारतीय सीमा और सेना के लोकेशन की रेकी करने को कहा गया है. इसमें गुरेज सेक्टर के सेना के फर्वर्ड लोकेशन और उस तक पहुंचने के लिए रास्तों की जानकारी और उसके नख्शे बनाने का काम सौंपा गया है. खुफिया रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि नक्शा बनाने के साथ ही गाइडों को उस इलाके में भारतीय सेना के कैंप और उस इलाके में मौजूद नालों की जीपीएस लोकेशन भी तैयार करने को कहा गया है.

इसे भी पढ़ें :- पाकिस्तान के F-16 जेट्स ने गलत कोड की वजह से घेरा था स्पाइजेट का विमान

बताया जाता है कि इस काम के लिए जितने भी गाइड चुने गए हैं, ये सारे गाइड अलग-अलग आतंकी तंजीमो से ताल्लुक रखते हैं. यही नही आतंकियों को ISI ने बाकायदा भारतीय इलाकों में रह रहे उनके ओवर ग्राउंड वर्कर की भी जानकारी दे दी है. इसी के साथ उन्हें बताया गया है कि भारतीय सीमा में घुसपैठ कराने के बाद उन्हें गाइड किससे मिलवाएगा. यही नहीं एलओसी के पास के गांव में जो लोग आतंकियों को पनाह देंगे उनके बारे में आतंकियों को बता दिया गया है.

Indian Border, Pakistan Army, ISI, Map, Guide, Indian Army, Border, Terrorist
सर्दियों में भारी बर्फबारी के बीच आतंकियों को भारत में दाखिल कराने की साजिश रच रहा पाकिस्तान.


आख़िर गाइड कैसे काम करते हैं
Loading...

ज्यादातर गाइड के काम के लिए उन आतंकियों को चुना जाता है, जो पहले उस इलाके से घुसपैठ कर चुके हैं. ज्यादा उम्र होने के चलते आतंकी संगठन उनका इस्तेमाल आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए नहीं करते हैं. ये सभी गाइड पीओके के इलाकों के गांवों में रहने वाले होते हैं और जो मजदूरी, खेती, मवेशियों को पालने और चराने जैसे कामों को करते हैं. ये लोग न सिर्फ अपने इलाके के चप्पे-चप्पे से वाकिफ होते हैं बल्कि भारतीय सीमा के पार भी पूरे इलाके की जानकारी रखते हैं. जब भी आतंकियों को ये सीमा पार कराते हैं उस वक्त उनके पास बड़े हथियार नहीं होते हैं बल्कि चाकू और पिस्टल होते हैं. इन गाइड का काम आतंकियों को लॉन्च पैड से भारतीय सीमा में दाखिल करना होता है इसके बाद सीमा पार दूसरा गाइड उन्हें रिसीव कर ओवर ग्राउंड वर्करों तक पहुंचाता है. यहां से आतंकियों को घाटी के दूसरे इलाक़ों में भेजा जाता है.

jammu and kashmir, kashmir news, terrorism, terrorist, kishtwar, ramban,जम्मू और कश्मीर, कश्मीर समाचार, आतंकवाद, आतंकवादी, किश्तवाड़, रामबन,
मुठभेड़ स्थल और उसके आसपास के इलाकों में भी अभियान चलाया जा रहा है.


घुसपैठ के लिए पाक सेना में हलचल तेज
खुफिया रिपोर्ट में ये साफ हो गया है की गुरेज सेक्टर के दूसरी ओर पीओके में पाकिस्तान सेना की कुछ अतिरिक्त सेना का मूवमेंट भी हुआ है. इनका काम भारतीय सेना को सीजफायर का उलंघन कर फंसा कर रखना है, जिससे घुसपैठ की कोशिश तेज की जा सके. बताया जाता है कि पाकिस्तानी सेना आतंकियों को नई-नई तकनीक की भी ट्रेनिंग देती है, जिसका इस्तेमाल आतंकी भारतीय सेना से बचने के लिए करते हैं. उत्तर कश्मीर को गुरेज सेक्टर में जिस जगह पकिस्तानी सेना की हलचल तेज हुई है उसमें मिनिमार्ग , कामरी, डोमेल और गुल्टारी शामिल हैं.

Jammu and Kashmir, Article 370, Terrorists, Kashmir, Pakistan, Infiltration, Security Agency,
जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी इलाकों से घुसपैठ में वृद्धि हुई है.


बर्फ गिरने से पहले करनी होगी सीमा पर घुसपैठ
सर्दियों के मौसम में घुसपैठ की घटनाएं सबसे ज्यादा होती हैं. जैसे-जैसे ठंड बढ़ती है आतंकियों के लिए घुसपैठ करना और आसान होता जाता है. आतंकी कोहरे का फायदा उठाकर आसानी से भारतीय सीमा में दाखिल हो जाते हैं. खुफिया रिपोर्ट में ये भी खुलासा हुआ है की तंगधार के दूसरी ओर पीओके में जूरा लॉन्चपैड और केरन के दूसरी ओर अथुमगाम लॉन्च पैड पर आतंकियों का जमावड़ा बढ़ रहा है और इनकी कोशिश है कि कम से कम बर्फबारी से पहले तो घुसपैठ करा दी जाए क्योंकि आतंकियों के पास न तो बर्फ में इस्तेमाल किए जाने वाले कपड़े हैं न ही कोई साजों सामान.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 1:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...