• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ISI आतंकी मॉड्यूल केस: दिल्ली पुलिस के लिए नई चुनौती बना टिफिन बम, जानें क्यों और कितना खतरनाक है ये

ISI आतंकी मॉड्यूल केस: दिल्ली पुलिस के लिए नई चुनौती बना टिफिन बम, जानें क्यों और कितना खतरनाक है ये

दिल्ली पुलिस और उत्तर प्रदेश एटीएस ने आतंकी नेटवर्क का भंडाफोड़ करने का दावा किया है.

दिल्ली पुलिस और उत्तर प्रदेश एटीएस ने आतंकी नेटवर्क का भंडाफोड़ करने का दावा किया है.

ISI Pakisan Terror Module Case: दिल्ली पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि बम की बनावट ऐसी थी कि जरा-सा भी दबाव पड़ने पर यह फट सकता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    अरुणिमा

    नई दिल्ली. दो दिन पहले ही सामने आए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा प्रायोजित आतंकी मॉड्यूल ने सुरक्षा प्रतिष्ठान के लिए एक नई चुनौती खड़ी कर दी है और वह परेशानी है ‘टिफिन बम’ जो कि थोड़े से दबाव में ही सक्रिय हो जाता है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और उत्तर प्रदेश के आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने आतंकी नेटवर्क का भंडाफोड़ करने का दावा किया है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि इस मामले में गिरफ्तार किए गए छह लोगों के पास से ये टिफिन बम बरामद किए गए हैं.

    दिल्ली पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने सीएनएन-न्यूज18 को बताया कि बम की बनावट ऐसी थी कि जरा-सा भी दबाव पड़ने पर यह फट सकता था. अधिकारी ने कहा, “इस तरह के बम में धमाका करने के लिए किसी डेटोनेटर की जरूरत नहीं है. इसका सर्किट पूरा होता है; यहां तक ​​कि अगर किसी ने उस पर थोड़ा कदम रखा या उसे धक्का दिया, तो वह फट सकता है.”

    तालिबान के वकील बने इमरान खान, वर्ल्ड कम्युनिटी को आतंक का डर दिखाया, बोले- तालिबान की मदद करो

    उन्होंने कहा कि यह एक नए तरह का इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) है जिसे बम निरोधक दस्ते को भी बड़ी सावधानी से संभालना पड़ सकता है. उन्होंने आगे कहा, “अगर बीडीएस (बम निरोधक दस्ता) भी उस पर थोड़ा-सा भी जोर देता है, तो यह आईईडी फट सकता है.” शुरुआती अनुमानों के मुताबिक टिफिन बम 200 से 500 ग्राम आरडीएक्स और कीलों से भरे हुए थे.

    अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान के लिए नई मुसीबत, सरकार में रहकर आपस में लड़ने लगे कई ग्रुप

    दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, “आतंकी इन टिफिन बमों को भीड़-भाड़ वाले बाजारों और उन क्षेत्रों में लगाने की सोच रहे थे, जहां लोग त्योहारों के लिए इकट्ठा होते हैं. जैसा कि देश में कोविड-19 मामलों की संख्या कम हो रही है, आईएसआई (इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस) यह मानकर चल रही थी कि भीड़ जल्द ही त्योहारी सीजन के लिए वापस आ जाएगी.”

    अफगानिस्तान में बेरोजगारी और गरीबी का आलम, खाने के लिए घर का कीमती सामान बेच रहे लोग

    स्पेशल सेल को संदेह है कि अगस्त में अमृतसर जिले में एक आईईडी विस्फोट के बाद पंजाब पुलिस द्वारा बरामद किए गए टिफिन बम को भी 15 सितंबर को नष्ट किए गए बम से जोड़ा जा सकता है. एक कथित आईएसआई-आतंकवादी मॉड्यूल के चार सदस्यों को 14 सितंबर को गिरफ्तार किए जाने के एक दिन बाद बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में हाई अलर्ट का आदेश दिया है.

    चीन को टक्कर देने की तैयारी, ऑस्ट्रेलिया को परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बियों से लैस करेंगे अमेरिका, ब्रिटेन

    पंजाब पुलिस की प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि आरोपी गुरमुख ने जालंधर-अमृतसर हाईवे पर हम्बोवाल में टिफिन आईईडी रखा था, जहां से 6 अगस्त को सह-आरोपी विक्की, मलकीत और गुरप्रीत सिंह ने अन्य कथित संदिग्धों लखबीर सिंह रोडे और पाकिस्तानी खुफिया अधिकारी ‘कासिम’ के निर्देश पर इसे उठाया.

    पंजाब पुलिस ने कहा कि टिफिन बॉक्स से एक पेन ड्राइव जुड़ी हुई थी, जिसमें टिफिन आईईडी को संचालित करने के निर्देश थे. अब दिल्ली पुलिस को भी संदेह है कि उनकी बरामदगी पंजाब पुलिस द्वारा हासिल टिफिन बम के समान हो सकती है. दिल्ली में जांच दल के सदस्यों ने सीएनएन-न्यूज18 को बताया कि इन स्लीपर सेल को सक्रिय करने के लिए जिम्मेदार आतंकवादी समूह की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है, लेकिन “आईएसआई की मुहर बिल्कुल साफ थी”

    पुलिस ने कहा कि अगले कुछ दिनों में मॉड्यूल के और सदस्यों को गिरफ्तार किया जा सकता है क्योंकि पूछताछ जारी है. एक अधिकारी ने कहा, “दिल्ली पुलिस आयुक्त संदिग्धों से पूछताछ करना चाहते हैं.” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के आरोपियों को लखनऊ और इलाहाबाद में उनके मूल स्थानों पर ले जाया जाएगा. अधिकारी ने कहा कि संदिग्धों के कट्टरपंथीकरण से लेकर यात्रा और प्रशिक्षण की व्यवस्था करने से लेकर आतंकी हमलों को अंजाम देने की साजिश तक… पूरी कड़ी को एक साथ जोड़ने के लिए जांच की जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज