जम्मू कश्मीर पर अभी भी हक जमाना चाहता है PAK, चीन से कहा-'भारत के दावे तथ्यों को नहीं बदल सकते'

जम्मू कश्मीर पर अभी भी हक जमाना चाहता है PAK, चीन से कहा-'भारत के दावे तथ्यों को नहीं बदल सकते'
फाइल फोटो

China-Pak Joint Statement: पाकिस्तान की ओर से यह बयान तब आया है जब पाकिस्तान और चीन के विदेश मंत्रियों की वार्ता के बाद जारी किए गए दोनों देशों के संयुक्त बयान में जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) का उल्लेख किये जाने पर भारत ने स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 8:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन-पाकिस्तान (China-Pakistan) के विदेश मंत्रियों की रणनीतिक वार्ता के दूसरे दौर के दौरान जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के संदर्भ में भारत की आपत्ति पर पलटवार करते हुए पाकिस्तान ने कहा कि केंद्रशासित प्रदेश पर नई दिल्ली का रुख हास्यापद कल्पना है, जो पूरी तरह से ऐतिहासिक और कानूनी तथ्यों के विपरीत है.

रविवार को पाकिस्तान की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया, 'भारत के पास इस मुद्दे पर ऐतिहासिक, कानूनी या नैतिक रूप से हस्तक्षेप का अधिकार नहीं है. भारत द्वारा झूठे दावों की पुनरावृत्ति न तो तथ्यों को बदल सकती है और न ही जम्मू-कश्मीर में भारत के राज्य-आतंकवाद और इसके कश्मीरी लोगों के मानवाधिकारों के उल्लंघन पर ध्यान दे सकती है.'

कश्मीरियों को निष्पक्ष जनमत का अधिकार देने की इजाजत
अपने बयान में पाकिस्तान ने आगे कहा, कश्मीरियों को निष्पक्ष जनमत का अधिकार देने की अनुमति दी जानी चाहिए. झूठे और भ्रामक बयानों का सहारा लेने के बजाय, भारत को अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को ईमानदारी से लागू करना चाहिए. भारत को संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में स्वतंत्र और निष्पक्ष जनमत संग्रह के माध्यम से कश्मीरियों को आत्मनिर्णय के अधिकार के लिए अपने अयोग्य अधिकार का प्रयोग करने देना चाहिए.
चीन-पाक के संयुक्त बयान को भारत ने किया खारिज


पाकिस्तान की ओर से यह बयान तब आया है जब पाकिस्तान और चीन के विदेश मंत्रियों की वार्ता के बाद जारी किए गए दोनों देशों के संयुक्त बयान में जम्मू कश्मीर का उल्लेख किये जाने पर भारत ने स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया है.

ये भी पढ़ें- वायु सेना के पास राफेल जेट तो हैं, ट्रेंड पायलट नहीं?

विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर भारत का 'अखंड और अलग नहीं किये जाने वाला हिस्सा है और उसे उम्मीद है कि वे देश के आंतरिक विषयों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे. उन्होंने कहा, 'अतीत की तरह ही, हम चीन-पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की दूसरे दौर की रणनीतिक वार्ता के संयुक्त प्रेस बयान को स्पष्ट रूप से खारिज करते हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading