Home /News /nation /

islamic organization pfi uses minor boy to give hate slogan against hindus in its alappuzha rally in kerala

VIDEO: फिर विवादों में घिरा PFI, अपनी रैली में नाबालिग बच्चे से हिंदुओं के खिलाफ लगवाए नफरती नारे


पीएफआई पर केरल के आलप्पुझा शहर में आयोजित रैली में एक नाबालिग बच्चे से नफरती नारेबाजी करवाने का आरोप लगा है. (ANI Photo)

पीएफआई पर केरल के आलप्पुझा शहर में आयोजित रैली में एक नाबालिग बच्चे से नफरती नारेबाजी करवाने का आरोप लगा है. (ANI Photo)

सोशल मीडिया पर पीएफआई के इस प्रोटेस्ट मार्च का एक चौंकाने वाला वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक नाबालिग बच्चा हिंदुओं और ईसाइयों के खिलाफ नफरती और भड़काऊ नारे लगाते हुए दिखाई दे रहा है. बताया जा रहा है कि इस प्रोटेस्ट मार्च में पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमा अब्दुल सलाम भी मौजूद थे.

अधिक पढ़ें ...

त्रिवेंद्रम: केरल के आलप्पुझा शहर में शनिवार को चरमपंथी इस्लामी संगठन ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ ने ‘सेव द रिपब्लिक’ अभियान के तहत एक प्रोटेस्ट मार्च का आयोजन किया था. सोशल मीडिया पर पीएफआई के इस प्रोटेस्ट मार्च का एक चौंकाने वाला वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक नाबालिग बच्चा हिंदुओं और ईसाइयों के खिलाफ नफरती और भड़काऊ नारे लगाते हुए दिखाई दे रहा है. बताया जा रहा है कि इस प्रोटेस्ट मार्च में पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमा अब्दुल सलाम भी मौजूद थे.

केरल पुलिस ने वायरल वीडियो का संज्ञान लेकर, मामले में जांच शुरू कर दी है. हिंदू संगठनों ने आरोप लगाया है कि मुस्लिम समाज को भड़काने और देश का माहौल खराब करने के लिए ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ अब नाबालिग बच्चों का इस्तेमाल कर रहा है. वायरल वीडियो में एक छोटा बच्चा अपने पिता के कंधे पर बैठकर नारे लगा रहा है, ‘हम बाबरी और ज्ञानव्यापी दोनों में एक दिन सजदा जरूर करेंगे, इंशाअल्लाह. संघियों तुम इस बात को समझ लो.’

नाबालिग रैली के दौरान क्या नारेबाजी कर रहा था?
नाबालिग आगे कहता है, ‘ना हम पाकिस्तान जाएंगे और न ही बांग्लादेश जाएंगे, इसी देश की 6 फीट जमीन में दफन होंगे. लेकिन संघियों तुम ये याद रखना, हम मिटने से पहले तुम्हें मिटाकर जाएंगे. अपने घर पर चावल, फूल और अंतिम संस्कार के सारे समान का इंतजाम करके रखो, कुछ भी मत भूलना, कुछ भी मत भूलना, तुम्हारा काल बनकर हम तुम्हारे पास आ रहे हैं.’ आपको बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एजेंडे को देश में लागू करने और मुसलमानों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पीएफआई इस साल 26 जनवरी से ही यह राष्ट्रव्यापी अभियान चला रहा है, जो 15 अगस्त, 2022 तक चलेगा.

पुलिस और पीएफआई नेताओं ने बच्चे को नहीं रोका
हिंदू संगठनों का कहना है कि इस प्रोटेस्ट मार्च में केरल पुलिस के जवान मौजूद थे, लेकिन न उन्होंने और न ही पीएफआई के किसी नेता ने बच्चे को नफरती नारेबाजी करने से रोका. बजरंग दल ने पीएफआई की इस रैली को अनुमति नहीं देने की मांग की थी, लेकिन पुलिस ने प्रोटेस्ट मार्च की इजाजत दी. इसके खिलाफ बजरंग दल ने कोर्ट का रुख किया था. लेकिन अदालत ने रैली पर रोक लगाने की बजरंग दल की याचिका को नामंजूर कर दिया. कोर्ट ने पुलिस को हिदायत दी थी कि वह इस बात को सुनिश्चित करे कि रैली के दौरान कानून और व्यवस्था ना बिगड़े. पीएफआई की रैली का जवाब देने के लिए बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आलप्पूझा में शनिवार की सुबह शौर्य मार्च भी निकाला था.

Tags: Hate Speech, Kerala, PFI

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर