Corona: इजरायल, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों ने भारत को भेजी मेडिकल मदद

वायुसेना भी विदेश से मदद लेकर आ रही है. (Pic- Indian air force)

वायुसेना भी विदेश से मदद लेकर आ रही है. (Pic- Indian air force)

Coronavirus: विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने अपने ट्वीट में कहा कि भारत और अमेरिका की सामरिक साझेदारी को आगे बढ़ाते हुए अमेरिका से आज सुबह रेमडेसिविर की 81000 शीशियां मुम्बई पहुंची.

  • Share this:

नई दिल्ली. इजरायल, अमेरिका, आस्ट्रेलिया, बहरीन आदि देशों से चिकित्सा सहायता (Medical Aid) की खेप बुधवार को भारत पहुंची जिसमें आक्सीजन सांद्रक यानी कंसंट्रेटर, रैपिड टेस्टिंग कि ऑक्सीजन सिलेंडर, वेंटीलेटर, रेमडेसिविर की शीशियां, दवा आदि शामिल है. इन देशों से भारत को यह चिकित्सा आपूर्ति ऐसे समय में भेजी गई है जब भारत कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) की दूसरी लहर से जूझ रहा है.

इजरायल से भेजी गई चिकित्सा सहायता संबंधी यह खेप विशेष विमान से भारत लायी गई. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने अपने ट्वीट में कहा कि भारत और अमेरिका की सामरिक साझेदारी को आगे बढ़ाते हुए, अमेरिका से आज सुबह रेमडेसिविर की 81000 शीशियां मुम्बई पहुंची.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘एक दूसरे के साथ आगे बढ़ते हुए. आक्सीजन संयंत्र, 2.8 लाख रैपिड टेस्टिंग किट एवं अन्य चिकित्सा उपकरण के साथ अमेरिकी विमान भारत पहुंचा.’’ बागची ने कहा, ‘‘अमेरिका के मजबूत सहयोग का तहे दिल से सराहना करते हैं . हमारी आक्सीजन क्षमता और मजबूत होगी.’’

Youtube Video

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘हमारे मित्र आस्ट्रेलिया से 1056 वेंटीलेटर और 43 आक्सीजन सांद्रक तोहफे में प्राप्त होने सराहना करते हैं . हमारी समग्र सामरिक साझेदारी और मजबूत होगी.’’ बागची ने ट्वीट कर बहरीन के समर्थन की भी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि इससे दोनों देशों के साझे इतिहास एवं सांस्कृतिक निकटता से युक्त करीबी द्विपक्षीय संबंध और आगे बढ़ेंगे.

बागची ने यह भी बताया कि जिलिएड साइंसेज ने रेमडेसिविर की 1.5 लाख शीशियां दी हैं . उन्होंने इस ‘‘उदार योगदान’’ के लिये जिलिएड को धन्यवाद दिया. दूसरी ओर, आईएनएस कोलकाता 40 मीट्रिक टन तरल चिकित्सा आक्सीजन, 200 आक्सीजन सिलिंडर, 4 आक्सीजन सांद्रक के साथ कुवैत से रवाना हो गया है .

वहीं, इजरायली दूतावास ने कहा कि ऐसी और उड़ानों के जरिये आपात चिकित्सा सहायता पहुंचायी जायेगी . इसमें समूह एवं व्यक्तिगत आक्सीजन संयंत्र, श्वसन में सहायक उपकरण, दवा सहित अतिरिक्त चिकित्सा उपकरण शामिल हैं. इजरायल के राजदूत रॉन माल्का ने कहा, ‘‘ जरूरत के इस समय में दोनों लोकतंत्र मजबूती से साथ साथ खड़े हैं. इजरायल हमारे मित्र भारत को इस जटिल और कठिन समय में सहायता का हाथ बढ़ा रहा है. ’’




उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 संकट के समय हमारी मित्रता और सहयोग मजबूत है और यह अधिक मजबूत होगा . भारत के साथ इस वैश्विक महामारी के खिलाफ संयुक्त लड़ाई को लेकर सहयोग को मैं काफी महत्वपूर्ण मानता हूं .’’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज