गाजा पट्टी से रॉकेट दागे जाने के बाद इजराइली सेना ने हमास के ठिकानों पर किए हमले

फोटो: पीटीआई (प्रतीकात्मक तस्वीर)
फोटो: पीटीआई (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इजराइली सेना (Israeli Army) ने एक बयान में कहा कि लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टरों और टैंकों ने हमास के भूमिगत ढांचों और सैन्य चौकियों को निशाना बनाया. बयान में कहा गया कि इजराइल में दो रॉकेट दागे गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2020, 4:30 PM IST
  • Share this:
यरूशलम. इजराइली सेना ने रविवार की सुबह गाजा पट्टी (Gaza Strip) के इलाकों में हमले किए हैं. इस हमले को लेकर इजराइल सेना का कहना है कि पहले फिलीस्तीनी भूभाग से उससी सीमा पर हमले किए गए थे, जिसके बाद यह जवाबी कार्रवाई की गई है. इजराइली सेना ने कहा है कि फिलीस्तीनी भूभाग से उसकी सीमा पर दो रॉकेट दागे जाने के बाद उसने गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों पर रविवार सुबह हमले किए.

सेना ने एक बयान में कहा कि लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टरों और टैंकों ने हमास (Hamas) के भूमिगत ढांचों और सैन्य चौकियों को निशाना बनाया. बयान में कहा गया कि इजराइल में दो रॉकेट दागे गए, जिनमें से एक अश्दोद शहर में और दूसरा मध्य इजराइल में गिरा. इन हमलों में किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं है. सेना ने कहा कि रॉकेट खुले इलाके में गिरे. हमास की तरफ से इस पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

इजरायल और हमास के बीच साल 2007 के बाद से तीन युद्ध और कुछ छोटी झड़पें हो चुकी हैं. हाल के कुछ सालों में मिस्त्र और कतर ने अनौपचारिक सीज फायर की बात कही हैं. जिसमें हमास ने आर्थिक मदद और इजराइली-मिस्त्र ब्लॉक में ढील दिए जाने के बदले में रॉकेट हमलों पर रोक लगाई है. खास बात है कि यह व्यवस्थाएं कई बार बिगड़ी हैं. गाजा में कुछ फिलीस्तीनी आतंकवादी समूह काम करते हैं, लेकिन इजरायल सभी हमलों के लिए हमास को जिम्मेदार ठहराता है. हमलों के जबाव में इजरायल आमतौर पर आतंकवादी लक्ष्यों पर रॉकेट फायर करता है. (इनपुट: एपी)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज