अभी बाकी है उम्‍मीद: ISRO चीफ ने कहा- लैंडर विक्रम से दोबारा संपर्क के प्रयास किए जा रहे

News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 11:35 PM IST
अभी बाकी है उम्‍मीद: ISRO चीफ ने कहा- लैंडर विक्रम से दोबारा संपर्क के प्रयास किए जा रहे
के सिवान ने चंद्रयान को लेकर खुलासा किया है (फाइल फोटो)

चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) के जरिए चांद (Moon) को छूने का इसरो का प्रयास भले ही बीती रात असफल हो गया हो पर उम्मीदें अब भी कायम हैं. यह बात खुद इसरो चीफ (ISRO Chief) की ओर से कही गई है कि इसरो फिर से लैंडर विक्रम (Vikram Lander) से संपर्क साधने की कोशिश कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 7, 2019, 11:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) के जरिए चांद (Moon) को छूने का इसरो का प्रयास भले ही बीती रात असफल हो गया हो पर उम्मीदें अब भी कायम हैं. यह बात खुद इसरो चीफ (ISRO Chief) की ओर से कही गई है कि इसरो फिर से लैंडर विक्रम (Vikram Lander) से संपर्क साधने की कोशिश कर रहा है.

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के चांद की सतह को छूने से चंद मिनटों पहले जमीनी स्टेशन से उसका संपर्क भले हो लेकिन अभी भी वैज्ञानिकों को लैंडर विक्रम से उम्मीदे हैं. इसरो के वैज्ञानिकों ने बताया है कि उन्होंने अभी हिम्मत नहीं हारी है और उनकी उम्मीदें अभी कायम है. इस बारे में इसरो (ISRO) के चीफ के सिवन (K Sivan) ने डीडी न्यूज से अपनी बातचीत में स्पष्ट तौर पर कहा है कि लैंडर से दोबारा संपर्क करने की कोशिश की जा रही है.



चंद्रमा से मात्र 2.1 किमी ऊपर टूटा लैंडर विक्रम से संपर्क
Loading...

भारत को चंद्रयान-2 मिशन को शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात झटका तब लगा, जब चंद्रमा के धरातल से मात्र 2.1 किमी की दूरी पर पहुंचने के बाद इसने इसरो को सिग्नल भेजना बंद कर दिया. इसरो ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि चंद्रमा (Moon) की सतह पर उतरते हुए लक्ष्य से 2.1 किमी पहले तक स्थिति सामान्य थी. उसके बाद लैंडर का संपर्क जमीन पर स्थित केंद्र से टूट गया. उन्होंने यह भी कहा कि इससे जुड़े आंकड़ों का विश्लेषण किया जा रहा है.

पूर्व इसरो चीफ भी बता चुके हैं बड़ी उपलब्धि
इससे पहले इसरो के पूर्व चीफ जी. माधवन नायर (G Madhavan Nair) ने भी चंद्रयान-2 को अपने मिशन के 95% उद्देश्यों को पाने में सफल रहने वाला कहा था. उन्होंने कहा था कि ऑर्बिटर अंतरिक्ष में पहुंच गया और उसे मानचित्रण का काम अच्छे से करना चाहिए.

यह भी पढ़ें: चंद्रयान 2 की तरह इजरायल के मून मिशन में आई थी गड़बड़ी, जानिए कहां हुई थी चूक?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 7:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...