अपना शहर चुनें

States

उत्तराखंड ग्लेशियर आपदाः इसरो ने जारी की रैणी, तपोवन की पहली तस्वीर, अब तक 32 शव बरामद

उत्तराखंड आपदा में हताहतों की संख्या 32 पहुंच गई है. राहत और बचाव कार्य जारी है. ISRO
उत्तराखंड आपदा में हताहतों की संख्या 32 पहुंच गई है. राहत और बचाव कार्य जारी है. ISRO

Uttarakhand Galcier Burst: एक अन्य तस्वीर में रैणी गांव में इंफ्रास्ट्रक्चर को हुआ नुकसान दिख रहा है. जहां एक पुल और रोड ऋषिगंगा नदी की बाढ़ में बह गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2021, 7:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) ने उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने (Uttarakhand Glacier Burst) की पहली तस्वीर जारी की है, जिसमें अब तक 32 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है, जबकि 170 से ज्यादा लापता हैं. इसरो के नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर की ओर से जारी की गयी सैटेलाइट इमेजेज में तपोवन हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्लांट को हुआ नुकसान स्पष्ट तौर पर पता चल रहा है. साथ ही तस्वीर से ये भी पता चलता है कि कम से कम दो पुल बाढ़ की भेंट चढ़ गए. इसके साथ ही दो अन्य ढांचों को भी हुआ नुकसान दिख रहा है. एक तस्वीर में बर्बादी के बाद जमा मलबा भी दिख रहा है, जिसमें आधारभूत ढांचों की दीवारें समाई हुई हैं.

(Image: ISRO/NRSC)


एक अन्य तस्वीर में रैणी गांव में इंफ्रास्ट्रक्चर को हुआ नुकसान दिख रहा है. जहां एक पुल और रोड ऋषिगंगा नदी की बाढ़ में बह गए हैं. इसी गांव में स्थित एक अन्य पावर प्लांट को भी बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है.



(Image: ISRO/NRSC)

इसरो की ओर से जारी की गई एक और तस्वीर में धौलीगंगा नदी में बुलडोजर और मलबा पड़ा दिखाई दे रहा है. ग्लेशियर टूटने की वजह से ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदी के कैचमेंट एरिया में अप्रत्याशित बाढ़ आने की वजह से जान-माल का बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है.

(Image: ISRO/NRSC)


इसरो ने इन तस्वीरों को कार्टोसैट-3 सैटेलाइट का उपयोग करते हुए खींचा है. कार्टोसैट-3 धरती पर हो रही हलचलों को कैद करने वाला एक एडवांस्ड सैटेलाइट है, जिसे ISRO ने प्रक्षेपित किया था. भारत-तिब्बत बॉर्डर पुलिस की टीम ने बुधवार को आपदास्थल का दौरा किया और हालात की जानकारी ली. आईटीबीपी के चीफ एसएस देसवाल ने कहा कि तपोवन टनल में फंसे 30-35 वर्करों के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहेगा, जब तक बचाव कार्य किसी तर्कसंगत निष्कर्ष पर नहीं पहुंच जाता है.

बता दें कि उत्तराखंड आपदा में अभी तक 32 लोगों के मरने की आधिकारिक पुष्टि हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज