ISRO चीफ का ऐलान- दिसंबर 2021 से पहले अंतरिक्ष भेजे जाएंगे भारतीय एस्ट्रोनॉट

साल 2021 में पहली बार ISRO के सैटेलाइट से कोई भारतीय अंतरिक्ष में जाएगा. इस बात का ऐलान आज ISRO के चेयरमैन के सिवान ने किया.

News18Hindi
Updated: January 11, 2019, 1:35 PM IST
ISRO चीफ का ऐलान- दिसंबर 2021 से पहले अंतरिक्ष भेजे जाएंगे भारतीय एस्ट्रोनॉट
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: January 11, 2019, 1:35 PM IST
साल 2021 तक पहली बार ISRO के सैटेलाइट से कोई भारतीय अंतरिक्ष में जाएगा. इस बात का ऐलान आज ISRO के चेयरमैन के सिवन ने किया. अंतरिक्ष पर मानव मिशन भेजने वाला भारत दुनिया का चौथा देश होगा. इस मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्री को विदेश में ट्रेनिंग दी जाएगी.

गगनयान के बारे में बात करते हुए सिवन ने कहा कि ISRO महिला अंतरिक्ष यात्री को भी इसमें शामिल करना चाहता है, लेकिन ये सेलेक्शन की प्रक्रिया पर निर्भर करता है.

इसके साथ ही के. सिवन ने शुक्रवार को घोषणा की कि भारत के दूसरे चंद्र अभियान चंद्रयान-2 को इस साल मध्य अप्रैल में प्रक्षेपित कर सकता है. इसरो ने इससे पहले कहा था कि चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण इस साल जनवरी से 16 फरवरी के बीच किया जाएगा.


Loading...

यह भी पढ़ें- 3 भारतीयों को 7 दिन के लिए अंतरिक्ष भेजेगा भारत, गगनयान को मिली मंजूरी

800 करोड़ रुपए की लागत वाला यह अभियान करीब 10 साल पहले प्रक्षेपित किए गए चंद्रयान-1 का उन्नत संस्करण है. सिवन ने मीडिया से कहा ‘जहां तक चंद्रयान 2 के प्रक्षेपण की बात है तो इसके लिए 25 मार्च से मध्य अप्रैल का समय तय किया गया है. संभवत: इसे मध्य अप्रैल में प्रक्षेपित किए जाने का लक्ष्य है.’

उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी ने इसे पहले जनवरी और फरवरी के बीच प्रक्षेपित करने की योजना बनाई थी लेकिन कुछ परीक्षणों के नहीं हो पाने के कारण ऐसा नहीं हो सका. इसरो प्रमुख ने कहा, ‘फरवरी के लक्ष्य से चूकने के बाद अगला उपलब्ध लक्ष्य अप्रैल है. अब इसे अप्रैल में प्रक्षेपित करने की योजना है.’

यह भी पढ़ें- पूरी दुनिया पर ISRO की धाक, साल भर में कई मिशन सफलतापूर्वक लॉन्च
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...