Assembly Banner 2021

TMC में शामिल हुए यशवंत सिन्हा तो केंद्रीय मंत्री बोले- अवसरवादियों के बारे में कम बात करना बेहतर

यशवंत सिंह पर प्रहार करते हुए कहा कि प्रधान ने कहा कि शायद उन्हें गणना की जानकारी नहीं है.

यशवंत सिंह पर प्रहार करते हुए कहा कि प्रधान ने कहा कि शायद उन्हें गणना की जानकारी नहीं है.

West Bengal Assembly Elections: धमेंद्र प्रधान ने कहा- 'अवसरवादियों के बारे में कम बात करना बेहतर है. यशवंत सिन्हा साहब अब वृद्ध हो चुके हैं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 13, 2021, 9:38 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections) को लेकर राजनीतिक पार्टियों में हलचल जारी है. इस क्रम में पूर्व बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा (Yashwant Singh) ने तृणमूल कांग्रेस से हाथ मिला लिया है. यशवंत सिन्हा के तृणमूल कांग्रेस में शामिल पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की प्रतिक्रिया सामने आई है.

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, धमेंद्र प्रधान ने कहा- 'अवसरवादियों के बारे में कम बात करना बेहतर है. यशवंत सिन्हा साहब अब वृद्ध हो चुके हैं, शायद उन्हें गणना की जानकारी नहीं है लेकिन अटल जी और मोदी जी दोनों ने मध्य भारत के लिए बहुत काम किया है.





बता दें कि तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद यशवंत सिन्हा ने बीजेपी पर हमला किया और दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस बहुत बड़े बहुमत के साथ सत्ता में वापस आएगी. यशवंत सिन्‍हा ने कहा, 'मैं बहुत अफसोस के साथ कह रहा हूं कि चुनाव आयोग अब स्वतंत्र संस्था नहीं रही है. तोड़-मरोड़ कर चुनाव (8 चरणों में मतदान) कराने का फैसला मोदी-शाह के नियंत्रण में लिया गया है और बीजेपी को फायदा पहुंचाने के​ ​ख्याल से लिया गया है.'
बीजेपी का मकसद येन-केन-प्रकारेण जीतना
उन्होंने बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच भयानक संघर्ष की बात कही और कहा, 'भाजपा का आज देश में एक ही मकसद है, हर चुनाव को येन-केन-प्रकारेण जीतना. इसलिए ममता जी को अपंग करने के लिए नंदीग्राम में आक्रमण किया.'

ये भी पढ़ेंः- कोलकाता में PM मोदी बोले- लोकसभा में TMC हाफ, इस बार पूरी साफ; 10 खास बातें

बंगाल में 8 चरणों में होगा चुनाव
पश्चिम बंगाल की 294 सीटों पर 8 चरणों में मतदान कराया जाना है. पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा. इसके बाद 1 अप्रैल को दूसरे चरण, 6 अप्रैल को तीसरे चरण, 10 अप्रैल को चौथे चरण, 17 अप्रैल को पांचवे चरण, 22 अप्रैल को छठे चरण, 26 अप्रैल को सातवें चरण, 29 अप्रैल को आखिरी चरण में वोटिंग होगी. फिर दो मई को वोटों की गिनती होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज