इस शहर में नहीं है पानी, आईटी कंपनियों ने कर्मचारियों से कहा-घर से करो काम

जिस इलाके के कर्मचारियों को यह निर्देश दिया गया है वहां 12 आईटी कंपनियां हैं और इनमें पांच हजार से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं. इन सभी कर्मचारियों के लिए हर रोज हजारों लीटर पानी की जरूरत होती है.

News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 5:23 PM IST
इस शहर में नहीं है पानी, आईटी कंपनियों ने कर्मचारियों से कहा-घर से करो काम
चेन्नई में पानी की कमी के चलते आईटी कर्मचारियों को घर से काम करने का निर्देश (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 5:23 PM IST
गर्मी बढ़ने के साथ ही देश में पानी की किल्लत भी बढ़ती जा रही है. पानी की कमी को देखते हुए चेन्नई के ओल्ड महाबलीपुर इलाके (ओएमआर) में स्थित आईटी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा है. आईटी कंपनियों का कहना है कि उनके यहां कर्मचारियों की सुविधा के मुताबिक पानी उपलब्ध नहीं है. बताया जा रहा है कि अगले 100 दिनों तक कंपनियों को पानी से जूझना पड़ सकता हैं. शहर में तकरीबन 200 दिनों से बारिश नहीं हुई है, जिसके कारण पानी की दिक्कत बढ़ती जा रही है.

बताया जाता है कि इस इलाके में 12 आईटी कंपनियां हैं और इन आईटी कंपनियों में पांच हजार से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं. इन सभी कर्मचारियों के लिए हर रोज हजारों लीटर पानी की जरूरत होती है. ओएमआर में 600 आईटी कंपनियां हैं. इन कंपनियों में पानी की आपूर्ति के लिए टैंकर मंगाए जाते हैं. चार साल पहले जब पानी टैंकर एसोसिएशन की हड़ताल हुई थी, उस वक्त भी कर्मचारियों से घर से ही काम करने को कहा गया था.



बताया जाता है कि शोलिंगनल्लूर इलाके के एलकॉट में फोर्ड बिजनेस सर्विसेज ने अपने कर्मचारियों से पीने का पानी खुद लाने को कहा है. टेक बेस्ड जल प्रबंधन स्टार्टअप ग्रीन इन्वाइरनमेंट के सीईओ और को-फाउंडर वरुण श्रीधरन के मुताबिक कंपनी अपनी जरूरत के मुताबिक 55 प्रतिशत ट्रीटेड वॉटर का इस्तेमाल कर रही है.

पानी संकट से चेन्नई के और इलाके भी प्रभावित हो रहे हैं. सिपकोट आईटी पार्क पर भी इसका बुरा असर पड़ रहा है. यहां पर 46 आईटी कंपनियां हैं. इन कंपनियों में पानी मुहैया कराने के लिए 17 कुंओं से पानी निकाला जाता है. इस समय कुंओं में केवल 10 लाख लीटर ही पानी निकल रहा है, जिसके कारण पानी के टैंकर पर आश्रित होना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें: जिंदा रहने के लिए 4 km पैदल चलकर मिलता है एक घूंट पानी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...