हवाला के जरिए 100 करोड़ रुपए का फर्जीवाड़ा, फर्जी पासपोर्ट के साथ चीनी नागरिक गिरफ्तार

हवाला के जरिए 100 करोड़ रुपए का फर्जीवाड़ा, फर्जी पासपोर्ट के साथ चीनी नागरिक गिरफ्तार
इस मामले में ईडी ( Enforcement directorate ) की टीम भी कार्रवाई कर रही है .

इनकम टैक्स विभाग (Income tax of india) और ईडी (ED) की टीम ने एक बड़े सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया. इस ऑपरेशन का मकसद उन चीनी कंपनियों को मदद करने वाले सरकारी अधिकारियों सहित कई अन्य आरोपियों के खिलाफ दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश के 20 शहरों में इनकम टैक्स की टीम ने छापेमारी करना था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 12, 2020, 12:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देश में चीनी कंपनियों और उनके हवाला कनेक्शन के मसले पर इनकम टैक्स विभाग (Income tax of india) और ईडी (ED) की टीम ने एक बड़े सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया. इस ऑपरेशन का मकसद उन चीनी कंपनियों को मदद करने वाले सरकारी अधिकारियों सहित कई अन्य आरोपियों के खिलाफ दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश के 20 शहरों में इनकम टैक्स की टीम ने छापेमारी करना था.  इस सर्च ऑपरेशन में केन्द्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ( Enforcement directorate ) की टीम भी कार्रवाई कर रही है .

देश में पहली बार ऐसी कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है, जिसमें भारत के कई राज्यों में चीन देश की कंपनियों का हवाला कनेक्शन का मामला सामने आया है . इसी वजह से दिल्ली , गुरूग्राम , गाजियाबाद सहित करीब 20 लोकेशन पर इतने बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया गया . ये सर्च ऑपरेशन मंगलवार 11 अगस्त की देर रात चलती रही . इसी दौरान आरोपी को हिरासत में लिया गया , जिसका नाम लुओ सैंग है, लेकिन वो चार्ली पेंग के नाम से भारत में पिछले काफी समय से रह रहा था. 11 अगस्त की देर रात तक इनकम टैक्स की टीम पूछताछ कर रही थी , पूछताछ के दौरान कई महत्वपूर्ण जानकारियां सामने आई है ,

कौन है लुओ सैंग और क्या है उसका हवाला कनेक्शन ?
इनकम टैक्स विभाग और केन्द्रीय जांच एजेंसी ईडी (ED) की टीम को पिछले कुछ दिनों पहले इस मामले की जानकारी मिली थी की हवाला कारोबार के मार्फत चीन के कुछ नागरिक देश में कई बड़े कारोबार में निवेश कर रहे हैं , इस मामले में ये भी जानकारी मिली थी की उसमें से एक शख्स का नाम लुओ सैंग है, लेकिन पिछले काफी समय से भारत में अपने आप को वो मणीपुर का निवासी बताता था. इसके साथ ही वो अपना नाम चार्ली पेंग बताता था. इसके बारे में ये भी जानकारी मिली है की वो फर्जी पासपोर्ट धारक भी है, लिहाजा इस मामले में दिल्ली पुलिस भी आने वाले वक्त में मामला दर्ज कर सकती है और आगे की कार्रवाई हो सकती है.
इनकम टैक्स के सूत्रो के मुताबिक इस आरोपी ने कई फर्जी शैल कंपनियों का ये जाल फैला रखा था. लुओ सैंग पैसे के दम पर कई बैंककर्मियों को भी घूस देकर अपना काम निकालता था. इनकम टैक्स के सूत्रों ने इस मामले में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि छापेमारी के दौरान इस आरोपी के करीब 40 से अधिक बैंक खातों के बारे में जानकारी मिली है. जिसमें एक समय के अंतराल में ही करीब एक हजार करोड़ रुपये से अधिक क्रेडिट एंट्री किए जाने से संबंधित महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद हुए हैं. इसके लिए जो प्लान बनाया गया की चीनी कंपनियों के सब्सिडियरी और उससे जुड़े लोगों ने फर्जी कंपनियों से भारत में रिटेल शोरूम व्यवसाय करने के लिए करीब एक सौ करोड़ रुपए से अधिक बोगस एडवांस लिए गए.



इस मामले में हवाला कारोबारियों की भूमिका साफ तौर पर स्पष्ट हो रही है, इसके साथ इस हवाला कनेक्शन में अमेरिकी डॉलर और हांगकांग की करेंसी का भी प्रयोग किया गया है . इन कंपनियों को भारत में स्थापित करने के लिए कई चार्टेड एकाउंटेंट और बैंक कर्मियों की भूमिका काफी संदिग्ध है, लिहाजा उन आरोपियों के आवास सहित अन्य लोकेशन पर भी छापेमारी के मामले को अंजाम दिया गया है. इस मामले में जल्द ही इनकम टैक्स और प्रवर्तन निदेशालय कई और खुलासे औपचारिक तौर पर कर सकती है .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज