कांग्रेसी नेतृत्व वाली UPA में अहम सहयोगी IUML ने राम मंदिर पर प्रियंका के बयान पर नाखुशी जताई

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी की फाइल फोटो
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी की फाइल फोटो

हालांकि, पार्टी (Party) ने इस घटना (incident) को तूल नहीं देने का फैसला किया और कहा कि वह इस पर चर्चा दोबारा शुरू करने को लेकर IUML अनिच्छुक है.

  • Share this:
मलाप्पुरम (केरल). कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) में अहम सहयोगी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) ने बुधवार को प्रस्ताव पारित कर अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram temple construction) पर कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) की ओर से दिए गए बयान पर अप्रसन्नता जताई. मुस्लिम लीग (Muslim League) के राष्ट्रीय नेतृत्व की हुई बैठक में पार्टी ने प्रस्ताव (Proposal) को स्वीकार किया और कहा कि बयान गलत समय पर दिया गया.

पार्टी ने कहा, ‘‘अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण पर प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) द्वारा बेवक्त दिए गए बयान पर हम अपनी अप्रसन्नता जताते हैं.’’ हालांकि, पार्टी (Party) ने इस घटना (incident) को तूल नहीं देने का फैसला किया और कहा कि वह इस पर चर्चा दोबारा शुरू करने को लेकर अनिच्छुक है.

IUML ने किया था सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत, अब खत्म हुआ यह अध्याय
पार्टी ने कहा, ‘‘आईयूएमएल ने उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत किया था और उसके बाद अब यह अध्याय समाप्त हो चुका है.’’ सांसद और आईएमयूएल के आयोजन सचिव ईटी मोहम्मद बशीर ने कहा कि हम इस मामले पर दोबारा चर्चा शुरू नहीं करना चाहते हैं.
प्रियंका ने भूमि पूजन को बताया था राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और संस्कृति का उत्सव


उल्लेखनीय है कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा था कि भगवान राम सभी के हैं और उम्मीद जताई कि आयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने जा रहा भूमि पूजन राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और संस्कृति का उत्सव होगा.

यह भी पढ़ें: कश्मीर के बयान पर भारत की सलाह- दूसरों के आंतरिक मामलों में टिप्पणी न करें चीन

राम मंदिर के लिए बुधवार को भूमि पूजन से पहले कांग्रेस नेता ने कहा कि सदियों से भगवान राम के चरित्र ने पूरे भारतीय उपमहाद्वीप के लिए एकजुटता के स्रोत के रूप में काम किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज