लाइव टीवी

जाधवपुर यूनिवर्सिटी के पीएचडी स्कॉलर का शव भोजनालय में फंदे से लटका मिला

भाषा
Updated: October 13, 2019, 7:18 AM IST
जाधवपुर यूनिवर्सिटी के पीएचडी स्कॉलर का शव भोजनालय में फंदे से लटका मिला
जाधवपुर विश्वविद्यालय के एक शोधार्थी ने फांसी लगाकर जान दे दी.

जाधवपुर विश्वविद्यालय (Jadavpur University) के एक पीएचडी छात्र (PHD Student) का शव शनिवार को भोजनालय के फंदे ले लटकता हुआ पाया गया.

  • Share this:
कोलकाता. जाधवपुर विश्वविद्यालय (Jadavpur University) के एक शोधार्थी (PHD Student) का शव शनिवार को पश्चिम मिदनापुर जिले (West Midnapore District) के एक भोजनालय में फांसी से लटका पाया गया. बेलदा पुलिस थाने (Police Station) के एक अधिकारी ने बताया कि इसी जिले के केशियारी का रहने वाला 25 वर्षीय प्रियदीप पिछले कई महीनों से बेलदा में एक भोजनालय में रह रहा था.

अधिकारी ने बताया कि जब प्रियदीप दोपहर के भोजन के लिए नहीं आया और उसका कमरा खटखटाने पर भी कोई जवाब नहीं मिला तो अन्य साथियों ने दरवाजा तोड़ा और उसे फंदे से लटका हुआ पाया. कमरे में कोई सुसाइड नोट (Suicide Attack) नहीं मिला.

पढ़ाई पर ध्यान देने के लिए भोजनालय में रह रहा था
पीएचडी के छात्र का शव पोस्टमार्टम (Postmortem) के लिए भेज दिया गया है. उसके परिवार के सदस्यों के हवाले से अधिकारी ने बताया कि प्रियदीप अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने के लिए भोजनालय में रह रहा था.

जाधवपुर विश्वविद्यालय (Jadavpur University) के एक अधिकारी ने बताया कि अधिकारियों को घटना के बारे में पता चला लेकिन दुर्गा पूजा की छुट्टी खत्म होने के बाद संस्थान खुलने पर ही जानकारियां मिल सकती हैं.

पिछले महीने यूनिवर्सिटी में बाबुल सुप्रियो के साथ हुई थी बदसलूकी
इससे पहले जाधवपुर यूनिवर्सिटी तब चर्चा के केंद्र में आ गया था, जब वहां केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) का विरोध हुआ था. 20 सितंबर को कोलकाता (Kolkata) की जाधवपुर यूनिवर्सिटी (Jadavpur University) में सुप्रियो के साथ धक्का-मुक्की की गई थी और उन्हें काले झंडे दिखाए गए. इस दौरान सुप्रियो के खिलाफ 'वापस जाओ' के नारे भी लगाए गए थे.
Loading...

उस दौरान बीजेपी सांसद (BJP PM) अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) द्वारा आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करने के लिए यूनिवर्सिटी पहुंचे थे. वामपंथी झुकाव वाले संगठन, आर्ट फैकल्टी स्टूडेंट्स यूनियन (AFSU) और स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) के छात्रों ने ‘बाबुल सुप्रियो वापस जाओ’ के नारे लगाते हुए करीब डेढ़ घंटे तक कैंपस में प्रवेश करने से रोके रखा था. इस दौरान बाबुल सुप्रियो ने अपने बाल खींचने का आरोप भी लगाया था.

यह भी पढ़ें: महिलाओं ने हाथ में कोबरा लेकर किया गरबा, वीडियो हुआ वायरल तो जाना पड़ा हवालात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 10:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...