लाइव टीवी

जगन सरकार ने विधानसभा में पेश किया 3 राजधानी का प्रस्ताव, TDP ने किया विरोध

News18Hindi
Updated: January 20, 2020, 3:19 PM IST
जगन सरकार ने विधानसभा में पेश किया 3 राजधानी का प्रस्ताव, TDP ने किया विरोध
जगन मोहन रेड्डी और चंद्रबाबू नायडू

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (Jagan Mohan Reddy) ने तीन राजधानी के लिए अमरावती, विशाखापट्टनम और कुरनूल का चुनाव किया है. प्रस्ताव के मुताबिक, विशाखापट्टनम आंध्र प्रदेश की एग्जीक्यूटिव कैपिटल होगी. वहीं, कुरनूल को ज्यूडिशियल कैपिटल के तौर पर पहचान मिलेगी, जबकि अमरावती लेजिस्लेटिव कैपिटल होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2020, 3:19 PM IST
  • Share this:
अमरावती. जगनमोहन रेड्डी सरकार (Jagan Mohan Reddy Government) ने राज्य की तीन राजधानियां बनाने की योजना को आकार देने संबंधी विधेयक सोमवार को आंध्र प्रदेश विधानसभा में पेश किया. इसमें विशाखापट्टनम को कार्यकारी राजधानी, अमरावती को विधायी राजधानी और कुरनूल को न्यायिक राजधानी बनाए जाने का प्रस्ताव है. वहीं, टीडीपी ने इस विधेयक का सदन में विरोध किया है.

‘आंध्र प्रदेश विकेंद्रीकरण एवं सभी क्षेत्रों का समावेशी विकास विधेयक’ 2020 में राज्यों को विभिन्न क्षेत्रों में बांटना और क्षेत्रीय नियोजन के साथ विकास बोर्डों की स्थापना करना भी शामिल है. तेलुगू देशम पार्टी (TDP) और इसके प्रमुख चंद्रबाबू नायडू लगातार रेड्डी सरकार के इस फैसले के खिलाफ हैं. टीडीपी कार्यकर्ता कई जगह इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं.

अगर जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व में आंध्र की वाईएसआर कांग्रेस सरकार ने तीन राजधानी का प्रस्ताव पास कर दिया, तो अमरावती से 50 हजार करोड़ का निवेश वापस ले लिया जाएगा. किसानों को भी इसका नुकसान होगा. बता दें कि साल 2015 में किसानों ने अमरावती के विकास के लिए 33 एकड़ जमीन दी थी.

विजयवाड़ा और गुंटूर में धारा 144 लागू

तीन विधानसभा का प्रस्ताव पास होने से रोकने के लिए टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने 'चलो विधानसभा' का आह्वान किया है. टीडीपी के अलावा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी भी 'चलो विधानसभा' के प्रदर्शन में हिस्सा लेगी. ऐसे में प्रशासन ने विजयवाड़ा और गुंटूर क्षेत्रों में धारा 144 लागू की गई है, ताकि विधानसभा को सुचारू रूप से चलाया जा सके.

क्या है तीन राजधानी का प्रस्ताव?
आंध्र के सीएम जगन मोहन रेड्डी विधायिका कार्यपालिका और न्यायपालिका के लिए अलग-अलग राजधानी बनाना चाहते हैं. जगन मोहन ने इसके लिए अमरावती, विशाखापट्टनम और कुरनूल का चुनाव किया है. प्रस्ताव के मुताबिक, विशाखापट्टनम आंध्र प्रदेश की एग्जीक्यूटिव कैपिटल होगी. वहीं, कुरनूल को ज्यूडिशियल कैपिटल के तौर पर पहचान मिलेगी, जबकि अमरावती लेजिस्लेटिव कैपिटल होगी.तीन राजधानियों की बात पर सीएम रेड्डी का कहना है, 'हमारे पास तीन अलग-अलग राजधानियां हो सकती हैं. दक्षिण अफ्रीका की तीन राजधानियां हैं. उनकी आवश्यकता है. हमें इन पर गंभीरता से सोचना चाहिए.' (एजेंसी इनपुट के साथ)

जगन मोहन रेड्डी के कैंप कार्यालय और आवास पर 16 करोड़ किए जा रहे खर्च, विपक्ष हुआ हमलावर

आंध्र प्रदेश राजधानी विवाद: जगन सरकार ने TDP के कई नेताओं को किया हाउस अरेस्ट

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 11:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर