आंध्र प्रदेश: TDP MLC का आरोप, चंद्रबाबू नायडू को मारने की साजिश रच रही है जगन रेड्डी सरकार

आंध्र प्रदेश: TDP MLC का आरोप, चंद्रबाबू नायडू को मारने की साजिश रच रही है जगन रेड्डी सरकार
टीडीपी के विधायक बुद्ध वेंकन्ना ने रविवार को आरोप लगाया कि आंध्र प्रदेश की जगन मोहन रेड्डी सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की हत्या की साजिश रची है.

टीडीपी एमएलसी (TDP MLC) ने इस मामले में मंगलगिरी के विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी की भूमिका पर भी सवाल उठाया. मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि जगन रेड्डी (Jagan Reddy) पूरे प्रदेश में छुट्टियां मना रहे हैं जबकि कृष्णा घाटी के लोग बाढ़ से पीड़ित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2019, 6:07 PM IST
  • Share this:
(सैयद अहमद)

तेलुगु देशम पार्टी (Telugu Desham Party) के विधायक बुद्ध वेंकन्ना (Budha Venkanna) ने रविवार को आरोप लगाया कि आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) की जगन मोहन रेड्डी सरकार (Jagan Mohan Reddy Government) ने पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) की हत्या की साजिश रची है.

टीडीपी एमएलसी (TDP MLC) ने यह बयान सरकार द्वारा कृष्णा नदी तट पर ड्रोन कैमरे लगाने के फैसले के दो दिन बाद दिया है. जिसे लेकर काफी विवाद जारी है. बता दें कि जगन मोहन रेड्डी सरकार ने जिस जगह ये ड्रोन कैमरे लगाए हैं, उसी जगह आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू का आवास है.



विधायक ने लगाए ये आरोप



वेंकन्ना ने आरोप लगाया है कि सीएम जगन रेड्डी ने जानबूझकर पूर्व सीएम नायडू की सुरक्षा घटाई है. उन्होंने कहा, "सरकार ने चंद्रबाबू नायडू की सुरक्षा बढ़ाने के आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के फैसले को लागू नहीं किया. सरकार ने कथित तौर पर लोगों को ड्रोन से नायडू के घर के वीडियो लेने के लिए भेजा."

विधायक की भूमिका पर भी सवाल
टीडीपी एमएलसी ने इस मामले में मंगलगिरी के विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी की भूमिका पर भी सवाल उठाया है. मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि जगन रेड्डी पूरे प्रदेश में छुट्टियां मना रहे हैं जबकि कृष्णा घाटी के लोग बाढ़ से पीड़ित हैं. उन्होंने कहा, "अगर अंतिम मिनट में प्रकासम बैराज के गेट नहीं खोले गए होते तो बारिश से हुआ नुकसान कम हो सकता था."

हालांकि इसे लेकर आंध्र प्रदेश सरकार का कहना है कि उसने नदी में बाढ़ की स्थिति को देखने के लिए ड्रोन कमरे लगाए, ताकि नदी के किनारे इसके प्रभाव का पता लगाया जा सके.

बाढ़ के कारण हज़ारों लोग प्रभावित
बता दें भारी बारिश के बाद आई बाढ़ के कारण आंध्र प्रदेश के कई गांव जलमग्न हैं. बाढ़ का प्रकोप कम होने के बावजूद आंध्र प्रदेश के कृष्णा और गुंटूर जिलों में कई गांव और सैकड़ों एकड़ खेत अभी भी पानी भरा हुआ है. दोनों जिलों में 24 गांव बाढ़ के कारण पूरी तरह बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं.

कृष्णा और गुंटूर में 11,553 लोगों को 56 राहत शिविरों में ले जाया गया है जहां भोजन और पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, दोनों जिलों में कुल 4,352 घरों में पानी भरा हुआ है. इन जिलों में 5,311 हेक्टेयर कृषि फसलें और 1,400 हेक्टेयर की बागवानी फसलें बाढ़ में डूबी हैं.

ये भी पढ़ें: YSR कांग्रेस को चंद्रबाबू से जुबानी लड़ाई का कोई फ़ायदा हुआ?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading