जगमोहन रेड्डी के चाचा की संदिग्ध मौत, बॉडी पर 7 चोटें, घर में कई जगह मिले खून के निशान

विवेकानंद रेड्डी के निजी सहायक एमवी कृष्ण रेड्डी ने पुलीवेंदुला पुलिस थाने में मौत पर संदेह जताते हुए शिकायत दर्ज कराई है.

News18.com
Updated: March 15, 2019, 7:25 PM IST
जगमोहन रेड्डी के चाचा की संदिग्ध मौत, बॉडी पर 7 चोटें, घर में कई जगह मिले खून के निशान
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18.com
Updated: March 15, 2019, 7:25 PM IST
आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी के भाई और पूर्व मंत्री वाईएस विवेकानंद रेड्डी का संदेहास्पद परिस्थितियों में शुक्रवार को निधन हो गया. विवेकानंद रेड्डी के निजी सहायक एमवी कृष्णा रेड्डी जब शुक्रवार सुबह आंध्र प्रदेश के कडप्पा जिले में उनके आवास पर पहुंचे तो वहां उनका शव मिला. उन्होंने शव को देखकर हत्या की आशंका जताई है. क्योंकि बाथरूम और बेडरूम में खून के धब्बे मिले हैं.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने मामले पर विशेष जांच दल का गठन करके जांच के आदेश दिए हैं. विवेकानंद वाईएसआरसीपी प्रमुख जगनमोहन रेड्डी के चाचा हैं. खबर सुनते ही जगमोहन रेड्डी और उनकी मां विजयाम्मा उनके आवास पर पहुंच गई हैं.

विवेकानंद रेड्डी के निजी सहायक एमवी कृष्ण रेड्डी ने पुलीवेंदुला पुलिस थाने में मौत पर संदेह जताते हुए शिकायत दर्ज कराई है. उनका कहना है कि बाथरूम और बेडरूम में खून के धब्बे मिले हैं. शव को पोस्टमार्टम के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल में भेजा गया. रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि 68 वर्षीय रेड्डी के शरीर पर चोट के सात निशान पाए गए हैं.



ये भी पढ़ें: राहुल गांधी का कराया कार्यक्रम, तो चेन्नई के स्टैला मैरिस कॉलेज को नोटिस

विवेकानंद रेड्डी के भतीजे और पूर्व सांसद वाईएस अविनाश रेड्डी ने भी आरोप लगाया था कि यह प्राकृतिक मौत नहीं थी और इसकी गहन जांच की मांग की. अविनाश ने कहा, 'उनके सिर पर दो चोटें थीं, आगे और पीछे एक-एक चोट थी. इसलिए, यह प्राकृतिक मौत नहीं लगती और मामले की गहनता से जांच होनी चाहिए. संभावना है कि साजीशन उनकी हत्या की गई है. जिसकी जांच करनी जरूरी है. विवेकानंद रेड्डी अपने गृह नगर से वर्ष 1989 और 1994 के चुनाव में विधायक चुने गए थे. उनके परिवार में उनकी पत्नी और एक बेटी है.

ये भी पढ़ें:  भीम आर्मी की रैली में चंद्रशेखर बोले- जरूरत पड़ी तो दोहरा सकते हैं भीमा कोरेगांव जैसी घटना

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...