जगन्नाथ पुरी मंदिर प्रशासन ने सेवादारों को वैक्सीन दिए जाने की मांग की

मंदिर में आने के लिए कोविड-19 जांच में संक्रमण की पुष्टि न होने के प्रमाण पत्र की आवश्यकता को समाप्त कर दिया है. (फाइल फोटो)

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (The Shree Jagannatha Temple Administration-SJTA) के मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने अतिरिक्त मुख्य सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, पी के महापात्र को लिखे एक पत्र में मंदिर के सेवादारों को पहले टीका देने की जरूरत को रेखांकित किया

  • Share this:
    पुरी. श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (The Shree Jagannatha Temple Administration-SJTA) ने बृहस्पतिवार को ओडिशा सरकार से सेवादारों (सेवायतों) और उनके परिजनों को प्राथमिकता देते हुए कोरोना वायरस टीका देने का आग्रह किया. इससे पहले एसजेटीए ने मंदिर में आने के लिए कोविड-19 जांच में संक्रमण की पुष्टि न होने के प्रमाण पत्र की आवश्यकता को समाप्त कर दिया था.

    प्रशासन ने लिखा खत
    एसजेटीए के मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने अतिरिक्त मुख्य सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, पी के महापात्र को लिखे एक पत्र में मंदिर के सेवादारों को पहले टीका देने की जरूरत को रेखांकित किया. कुमार ने पत्र में कहा, 'श्रद्धालुओं के लिए 21 जनवरी से मंदिर में आने के लिए कोविड-19 जांच में संक्रमण की पुष्टि न होने की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया है. आशा है कि प्रतिदिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिर में आएंगे इसलिए सेवायतों के संक्रमित होने की आशंका है.'

    मंदिर के 500 अन्य कर्मचारी हैं जिन्हें टीका दिया जा सकता है
    उन्होंने कहा कि मंदिर के भीतर भगवान की पूजा अर्चना निर्बाध रूप से चलने के लिए सभी सेवादारों और उनके परिजनों को प्राथमिकता देते हुए टीका लगाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इसके अलावा मंदिर के 500 अन्य कर्मचारी हैं जिन्हें टीका दिया जा सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.