शीला दीक्षित के कार्यक्रम में पहुंचे सिख दंगों के आरोपी टाइटलर, पहली लाइन में बैठने पर विवाद

1984 में हुए भीषण सिख दंगों के आरोप जगदीश टाइटलर पर हैं. इस मामले में कोर्ट ने पूर्व कांग्रेस सासंद सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

News18Hindi
Updated: January 16, 2019, 8:47 PM IST
News18Hindi
Updated: January 16, 2019, 8:47 PM IST
शीला दीक्षित को दिल्‍ली कांग्रेस का अध्‍यक्ष बनाए जाने को लेकर हो रहा कार्यक्रम विवादों में घिर गया है. शीला दीक्षित के कार्यक्रम में सिख दंगों के आरोपी जगदीश टाइटलर की मौजूदगी ने एक बार फिर सियासी गलियारों में हड़कंप मचा दिया है. कार्यक्रम में टाइटलर पहली लाइन में बैठे नज़र आए. इसके कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. गौरतलब है कि 1984 में हुए भीषण सिख दंगों के आरोप जगदीश टाइटलर पर हैं. इस मामले में कोर्ट ने पूर्व कांग्रेस सासंद सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

शीला दीक्षित के कार्यक्रम में जगदीश टाइटलर की मौजूदगी पर केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने सवाल खड़े किए हैं. हरसिमरत कौर ने राहुल गांधी की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा है कि राहुल जी भी वही कर रहे हैं जो उनके परिवार ने किया था. उन्होंने दिखा दिया है कि सिखों की भावना के लिए उनके मन में कोई आदर नहीं है.

इसे भी पढ़ें :- 1984 सिख दंगे: 34 साल तक सजा से कैसे बचे रहे सज्जन कुमार?


Loading...

गौरतलब है कि सज्जन कुमार को दोषी करार दिए जाने के बाद दंगा पीड़ितों और अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने कहा था कि जल्द ही अदालत से टाइटलर को भी सजा मिलेगी. सज्‍जन कुमार को दिल्ली कैंटोनमेंट के राज नगर इलाके में एक-दो नवंबर 1984 को पांच सिखों की हत्या और एक गुरूद्वारा में आग लगाए जाने के मामले में दोषी करार दिया गया है. 31 अक्टूबर, 1984 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिख विरोधी दंगे हुए थे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...