2800 गांवों को 24 घंटे बिजली दी, जल्दी ही हरियाणा के हर गांव को भी देंगे: खट्टर

खट्टर ने कहा कि बड़े राज्यों में हरियाणा की प्रति व्यक्ति आय सबसे ज्यादा है. अन्न भंडार के मामले में भी हरियाणा दूसरे नंबर पर है, डिफेंस सेक्टर में हमारा योगदान 9% है

Ankit Francis | News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 6:05 PM IST
2800 गांवों को 24 घंटे बिजली दी, जल्दी ही हरियाणा के हर गांव को भी देंगे: खट्टर
मनोहर लाल खट्टर, मुख्यमंत्री
Ankit Francis | News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 6:05 PM IST
जागरण फोरम कार्यक्रम के दूसरे दिन हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दावा किया कि उनकी सरकार ने राज्य के 6 जिलों के 2800 गांवों में 24 घंटे बिजली देना शुरू कर दिया है और अगले दो साल में सभी साढ़े छह हज़ार गांवों को भी 24 घंटे बिजली देना शुरू कर दिया जाएगा. खट्टर ने स्पष्ट कहा कि छोटे राज्य होने से विकास कार्य करने में आसानी आती है और हरियाणा का सीएम बनने के बाद उनकी ये धारणा और मजबूत हुई है.

खट्टर ने कहा कि बड़े राज्यों में हरियाणा की प्रति व्यक्ति आय सबसे ज्यादा है. अन्न भंडार के मामले में भी हरियाणा दूसरे नंबर पर है, डिफेंस सेक्टर में हरियाणा का योगदान 9% है जबकि खेलों में योगदान के मामले में हरियाणा नंबर वन है. आज यूपी के किसान हरियाणा में फसल बेचने आते हैं क्योंकि यहां किसानों की सुविधाओं पर खासा ध्यान दिया जाता है. हरियाणा की 108 में से 58 मंडियां अब ई-हाट में अपग्रेड हो गई है.

उन्होंने कहा कि हमारे देश के कुल राज्यों में जनसंख्या का एवरेज 3 करोड़ से भी ज्यादा है लेकिन अमेरिका में ये सिर्फ 27 लाख है. मार्च में ओलावृष्टि हुई थी तो हमने मई में किसानों को मुआवजा दे दिया, 2015 की बाढ़ के बाद भी ऐसा ही किया गया था. ये छोटा राज्य होने के चलते हो पाया लेकिन 22 करोड़ जनसंख्या वाले यूपी के लिए ये संभव नहीं है.

खट्टर ने दावा किया कि भावंतर योजना के तहत हमने किसानों का रजिस्ट्रेशन कराया और ये तय किया कि अगर उन्हें फसल की लगत से कम कीमत मिल रही है तो सरकार बाकि पैसा चुकाएगी. हमने हरियाणा के हर गांव में 24 घंटे बिजली देने का वादा किया था लेकिन लोग बिल नहीं भरना चाहते थे ये बड़ी दिक्कत थी. हमने 6 जिलों के 2800 गांवों में 24 घंटे बिजली देना शुरू कर दिया है और दो साल में सभी साढ़े छह हज़ार गांवों में 24 घंटे बिजली देना शुरू कर देंगे.

हमने ग्रुप सी और डी में 20 नंबर का इंटरव्यू बंद किया जिससे भ्रष्टाचार बंद हो सके. हमारी पंचायतों में जनप्रतिनिधि अनपढ़ होते थे जिससे करप्शन बढ़ता था हमने 10वीं कक्षा ता पढ़ा होना ज़रूरी बनाया. आने वाले समय में हमारी योजना है कि नीतियां बनाने में आम लोगों को भी शामिल किया जाएगा और वो खुद अपने इलाकों के विकास की नीतियां बनाने में सहायता करेंगे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर