मैं असली हिंदू हूं, देश में कुछ नकली हिंदू भी हैं: कपिल सिब्बल

कपिल ने कहा कि सरकारी संस्थाओं पर आरएसएस का कब्ज़ा हो ऐसा बदलाव हमें नहीं चाहिए.

News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 11:08 AM IST
मैं असली हिंदू हूं, देश में कुछ नकली हिंदू भी हैं: कपिल सिब्बल
कपिल सिब्बल (फ़ाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 11:08 AM IST
जागरण फोरम के दूसरे दिन शनिवार को कांग्रेस के सीनियर लीडर कपिल सिब्बल ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार की नीतियों के विरोध को आजकल देशद्रोह बता दिया जाता है. सिब्बल ने कहा कि देश को ऐसा बदलाव नहीं चाहिए जो पीछे बर्बादी छोड़ जाएगा, ऐसा बदलाव जो संविधान धज्जियां उड़ा दे और संवैधानिक संस्थाओं का राजनीतिकरण कर दे. कपिल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि आजकल लोगों के हिंदू होने पर सवाल उठाया जा रहा है, लेकिन बता दूं कि मैं असली हिंदू हूं और कुछ नकली भी हैं.

कपिल ने आरोप लगाया कि साल 2014 में मिनिमम गवर्नमेंट और मैक्सिमम गवर्नेंस का नारा दिया गया था लेकिन मैं पूछता चाहता हूं कि नोटबंदी क्या मिनिमम गवर्मेंट का उदाहरण है. आपके गरीब लोगों की कमाई को एक मिनट में रद्दी कर दिया, इससे डेढ़ फीसदी जीडीपी गिरी और 2 लाख 25 हज़ार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ. नोटबंदी के चलते 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई.

कपिल सिब्बल ने आगे कहा कि आज लोग सवाल पूछने से डरने लगे हैं क्या हम ऐसा ही कोई बदलाव चाहते थे. पीएम मोदी ने 15 लाख, काला धन, विकास और देश के आगे बढ़ने का सपना दिखाया था लेकिन भाषण देने और शासन चलाने में काफी अंतर होता है. आप 3000 करोड़ की मूर्ति बनाकर गरीब आदमी का भला नहीं कर सकते. उन्होंने कहा कि अब तो रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल हुडा ने भी सर्जिकल स्ट्राइक पर कहा है कि इसे पॉलिटिकल नहीं बनाया जाना चाहिए था. उन्होंने यहां तक कह दिया है कि ऐसा ही चलता रहा तो शायद ही इंडियन आर्मी ऐसा किसी ऑपरेशन को अंजाम दे.

सिब्बल ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी ने पी चिदंबरम के केस को लेकर सार्वजनिक मंच से झूठ बोला है. मैं उनका वकील हूं मैंने आज तक कभी उस केस में तारीख नहीं मांगी है. उन्होंने कहा कि जब हम मंत्री ने और किसी ने हमसे मदद मांगी तो हमने कभी ये नहीं जानना चाहा कि जिसकी मदद करनी है वो किस पार्टी से ताल्लुक रखता है. आजकल तो गवर्नर कह देते हैं कि मैं तो पहले आरएसएस का हूं, बाद में मेरे लिए कुछ और है. सुप्रीम कोर्ट के एक रिटायर्ड जज ने आरोप लगाया है कि पिछले सीजेआई कुछ ख़ास मुकदमों के लिए किसी और के कहने पर काम कर रहे थे.

कपिल ने कहा कि सरकारी संस्थाओं पर आरएसएस का कब्ज़ा हो ऐसा बदलाव हमें नहीं चाहिए. इस सरकार की नीतियों का विरोध करने पर देशद्रोही ठहरा दिया जाता है. मोदी कहते हैं कि हमने 18 हज़ार गांवों तक बिजली पहुंचा दी लेकिन देश में 6 लाख गांव हैं बाकी तक किसने बिजली पहुंचाई है ? बुलंदशहर में जब पुलिसवाले पर गोली चल रही थी तब सीएम लाईट एंड साउंड शो देख रहे थे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर