Home /News /nation /

jail journalist siddiqui kappans daughter speech goes viral says my father lost his freedom watch full video

VIDEO: मेरे पिता की आजादी टूट गई... जेल में बंद पत्रकार सिद्दीकी कप्पन की बेटी का भाषण वायरल

पत्रकार सिद्दीकी कप्पन की बेटी स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देती हुई. (फोटो twitter/ @AzeefaFathima)

पत्रकार सिद्दीकी कप्पन की बेटी स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देती हुई. (फोटो twitter/ @AzeefaFathima)

कप्पन की बेटी ने अपना स्वतंत्रता दिवस भाषण सोमवार 15 अगस्त को कुछ इस तरह से शुरू किया, ‘मैं मेहनाज़ कप्पन हूं. एक पत्रकार की बेटी हूं, मेरे पिता को सभी भारतीय नागरिकों के लिए उपलब्ध बुनियादी नागरिक अधिकारों से वंचित करके सलाखों के पीछे डाल दिया गया है.’

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन की 9 वर्षीय बेटी का भाषण वायरल
सिद्दीकी कप्पन साल 2020 से जेल में हैं, उन पर UAPA के तहत आरोप
वीडियो में मेहनाज़ ने धर्म और राजनीति पर आधारित हिंसा के बारे में बात की.

नई दिल्ली: देश आजादी का 75वां साल मना रहा है, इस दौरान जेल में बंद केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन की 9 वर्षीय बेटी का एक वीडियो ‘आम नागरिकों की स्वतंत्रता और अधिकारों’ के बारे में बात करते हुए सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. सिद्दीकी कप्पन साल 2020 से जेल में हैं, जब उन्हें 19 साल की लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार की रिपोर्ट करने के लिए यूपी के हाथरस जाते समय गिरफ्तार किया गया था. उन पर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत आरोप लगा था.

कप्पन की बेटी ने अपना स्वतंत्रता दिवस भाषण सोमवार, 15 अगस्त को कुछ इस तरह से शुरू किया, ‘मैं मेहनाज़ कप्पन हूं. एक पत्रकार की बेटी हूं, मेरे पिता को सभी भारतीय नागरिकों के लिए उपलब्ध बुनियादी नागरिक अधिकारों से वंचित करके सलाखों के पीछे डाल दिया गया है.’ वीडियो में मेहनाज़ ने धर्म और राजनीति पर आधारित हिंसा के बारे में बात की और कहा कि इसे ‘प्यार और एकता के साथ जड़ से उखाड़ फेंका जाना चाहिए’. उन्होंने कहा, प्रत्येक भारतीय के पास यह तय करने का विकल्प है कि क्या बोलना है, क्या खाना है या किस धर्म को मानना है. यह सब महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, भगत सिंह और अनगिनत अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्षों और बलिदानों के कारण संभव हुआ है.


भाषण में मेहनाज़ आगे कहती हैं, उन सभी स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हुए मेरा अनुरोध है कि आम नागरिकों की स्वतंत्रता और अधिकारों को छीना नहीं जाए. उन्होंने यह भी यह भी कहा कि भारत का गौरव किसी के सामने नहीं झुकना चाहिए. मेहनाज ने आगे कहा, ‘किसी भी अशांति की छाया को भी मिटा देना चाहिए. हम सभी को भारत को शीर्ष पर ले जाने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए. हमें बिना किसी मतभेद और संघर्ष के बेहतर कल का सपना देखना चाहिए.’

उन्होंने आगे कहा कि भारत जैसे ही अपने 76वें स्वतंत्रता दिवस में कदम रख रहा है, इस विशेष अवसर पर, एक अटूट गर्व और अधिकार के साथ एक भारतीय के रूप में मैं भारत माता की जय कहना चाहूंगी. मलयालम समाचार पोर्टल अज़ीमुखम के रिपोर्टर सिद्दीकी कप्पन को अक्टूबर 2020 में तीन अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था, जब वह 19 वर्षीय दलित महिला की रिपोर्ट करने के लिए हाथरस जा रहे थे, जिसकी सामूहिक बलात्कार के बाद मौत हो गई थी.

Tags: Kerala, Viral

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर