अपना शहर चुनें

States

जयपुर: कोरोना मरीज में मिले हर्पीज जोस्टर, डॉक्टरों का दावा-यह दुनिया का पहला मामला

(सांकेतिक फोटो)
(सांकेतिक फोटो)

Corona Virus: आमतौर पर सर्दियों और बारिश के मौसम में संक्रमित करने वाले हर्पीज जोस्टर (Herpes Zoster) का कारण वेरिसेला जोस्टर वायरस है. इससे ग्रस्त होने के बाद व्यक्ति के शरीर पर छोटे-छोटे पानी के दाने बाहर आते हैं और इनका आकार बढ़ने लगता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2021, 7:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस से होने वाले प्रभावों को लेकर अभी भी कई रिसर्च जारी हैं. ऐसे में राजस्थान के जयपुर में कोविड-19 (Covid-19) के दो विशेष मामले मिले हैं. यहां एक मरीज के शरीर पर हर्पीज जोस्टर सामने आए, तो एक अन्य मरीज के लिम्फ नोड्स (Lymph Nodes) बढ़े हुए मिले हैं. शहर के सवाई मान सिंह अस्पताल में ये मरीज भर्ती हैं. हालांकि, अस्पताल के डॉक्टर दावा कर रहे हैं कि हर्पीज जोस्टर से जुड़ा यह दुनिया का पहला मामला है.

इन मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने इसे ड्री सिंड्रोम का नाम दिया है. वहीं, हर्पीज जोस्टर संक्रमण से जूझ रहे 52 वर्षीय मरीज की नाभि और आंख के पास लाल चकत्ते उभर आए हैं. दरअसल, इस मामले को इस लिहाज से भी खास माना जा रहा है, क्योंकि हर्पीज जोस्टर का संक्रमण व्यक्ति के शरीर के एक हिस्से पर होता है, लेकिन इस केस में यह इंफेक्शन शरीर पर दो जगह नजर आया है.

यह भी पढ़ें: वुहान पहुंची WHO की टीम, पता लगाएगी कहां से आया वायरस




क्या है हर्पीज जोस्टर
आमतौर पर सर्दियों और बारिश के मौसम में संक्रमित करने वाले हर्पीज जोस्टर का कारण वेरिसेला जोस्टर वायरस है. इससे ग्रस्त होने के बाद व्यक्ति के शरीर पर छोटे-छोटे पानी के दाने बाहर आते हैं और इनका आकार बढ़ने लगता है. वहीं, इन दानों के फूटने की स्थिति में संक्रमण और भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है. साथ ही ये उन लोगों को ज्यादा तेजी से प्रभावित करता है, जिनके शरीर में पहले से ही वेरिसेला जोस्टर वायरस मौजूद हों.

वहीं, लिम्फ नोड से जुड़े मामले में मरीज इओसिनोफिल नाम की बीमारी से जूझ रहा था. 35 साल के इस मरीज के लिम्फ नोड्स बढ़े हुए थे. साथ ही ल्यूकोसाइट की मात्रा में भी इजाफा देखा गया. मीडिया रिपोर्ट्स दावा करती हैं कि इससे पहले कभी भी इओसिनोफिल और कोरोना किसी को एक साथ नहीं हुए.

ये हो सकते हैं कोविड-19 के आम लक्षण
स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, बुखार आना, सर्दी लगना, कफ, सांस लेने में परेशानी, थकान, मांसपेशियों में दर्द, सिर दर्द, स्वाद या सूंघने की शक्ति प्रभावित होना, गले में परेशानी, नाक बहना, दस्त, उल्टी या उल्टी की इच्छा जैसे कई लक्षण हो सकते हैं. हालांकि, कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद व्यक्ति में और भी कई अन्य लक्षण नजर आ सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज