अपना शहर चुनें

States

नगरोटा एनकाउंटर: जैश के सरगना अब्दुल रऊफ की देख-रेख में हुई पूरी प्लानिंग

कश्मीर के नगरोटा में सुरक्षा बलों ने सीमा पार से आए चार आतंकियों को एनकाउंटर में मार गिराया था. (फोटो: ANI/Twitter)
कश्मीर के नगरोटा में सुरक्षा बलों ने सीमा पार से आए चार आतंकियों को एनकाउंटर में मार गिराया था. (फोटो: ANI/Twitter)

Nagrota Encounter: सुरक्षाबलों ने गुरुवार को घुसपैठ के दौरान नगरोटा में चार आतंकी मार गिराए थे. जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनावों से पहले आतंकियों की पुलवामा जैसा हमला दोहराने की साजिश थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 2:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू (Jammu-Kashmir) के बान टोल प्लाजा (Ban Toll Plaza) पर 19 नवंबर को मारे गए जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammad) के चार आतंकवादियों को लेकर लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. न्यूज 18 को सूत्रों से पता चला है कि हमले की पूरी प्लानिंग जैश के सरगना अब्दुल राऊफ अजगर की देख रेख में हुई थी. ये प्लानिंग 31 जनबरी 2020 और 19 जनबरी 2020 को शक्करगढ में हुई. आतंकी बड़े हमले की फिराक मे थे. नगरोटा मुठभेड में मारे गए चारों आतंकी जो कि जैश ए मुहम्मद के है उनसे बरामद बरामद फोन और अन्य उपकरण से ये बड़ा खुलासा हुआ है.

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक इसी साल 31 जनवरी को, भारतीय सुरक्षाबलों (Indian Security Forces) ने एक ही टोल प्लाजा के पास जैश के तीन आतंकवादियों को मार गिराया था और तड़के हुई एक मुठभेड़ में तीन भूमिगत सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया था. गिरफ्तार लोगों में ट्रक का ड्राइवर समीर अहमद डार भी था.

आंतकियों का पाकिस्तान से कनेक्शन
जम्मू के नगरोटा में गुरुवार को हुए एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के थे. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक ये सभी आतंकी डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव के दौरान बड़े हमले के मकसद से भेजे गए थे और पाकिस्तान में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर के भाई रऊफ लाला से लगातार संपर्क में थे. जांच एजेंसियों ने बताया कि जिस समय आतंकियों का एनकाउंटर किया गया उस वक्त भी रऊफ लाला इन सभी आतंकियों को निर्देश दे रहा था.
कई हथियार बरामद


राजमार्ग पर बान टोल प्लाजा के निकट गुरुवार को जांच के लिये एक ट्रक को रोका गया. उसमें चार पाकिस्तानी आतंकवादी छिपे थे. इसके बाद हुई मुठभेड़ में चारों आतंकवादी मारे गए. पुलिस ने कहा कि इन आतंकवादियों के पास से 11 एके सीरीज की राइफलें, तीन पिस्तौल, 29 हथगोले, छह यूबीजीएल ग्रेनेड बरामद हुए थे. उन्होंने कहा कि ये आतंकवादी जिला विकास परिषद चुनावों को बाधित करने के मकसद से भारत में आए थे. पुलिस महानिदेशक ने पत्रकारों को बताया, 'पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से मिली कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को बीएसएफ के साथ साझा किया था, जिसने काफी प्रयासों के बाद सुरंग का पता लगा लिया.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज