पुलवामा हमले पर बोली सेना- ISI ने की जैश की मदद, 100 घंटों में आतंकियों का सफाया

पुलवामा हमले पर बोली सेना- ISI ने की जैश की मदद, 100 घंटों में आतंकियों का सफाया
लेफ्टिनेंट कर्नल केजेएस ढिल्‍लन

पुलवामा हमले के मास्‍टर माइंड रशीद गाजी की मौत की पुष्‍टी सेना ने कर दी है. सेना ने बताया कि जैश ने पाकिस्‍तान और ISI की मदद से पुलवामा में हमला किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2019, 6:13 PM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिल पर हुए हमले को लेकर भारतीय सेना ने साफ किया कि जैश ए मोहम्मद के इस आतंकी हमले में सीधे तौर पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ था. सेना ने बताया है कि जैश ने पाकिस्‍तान और ISI की मदद से पुलवामा में हमला किया है. सेना ने इस हमले के मास्‍टरमाइंड और जैश कमांडर कामरान उर्फ गाजी की मौत की पुष्‍टी की है.

भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्स के जीओसी लेफ्टिनेंट कर्नल केजेएस ढिल्लन ने कहा, 'इस हमले में ISI के हाथ होने की आशंका से इनकार नहीं करते हैं. जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान आर्मी का ही बच्चा है. इस हमले में पाकिस्तानी सेना का 100 फीसदी इनवॉल्वमेंट हैं. इसमें हमें और आपको कोई शक नहीं है.'

ढिल्लन ने इसके साथ ही कहा, 'पुलवामा हमले के 100 घंटे के भीतर ही आतंकियों को ढेर कर दिया गया. मुठभेड़ में जैश के 3 कमांडर ढेर हुए हैं. इस हमले में और कौन शामिल थे और क्या प्लान थे, यह हम शेयर नहीं कर सकते.'
ढिल्लन ने साथ ही बेहद सख्त लफ्ज़ों में कहा कि जो घुसपैठ करेगा, मारा जाएगा. ढिल्लन ने कहा, 'मैं जम्मू-कश्मीर की माताओं से अपील करता हूं कि अपने बच्चों को समझाएं और गलत रास्ते पर चले गए लड़कों को सरेंडर करने के लिए बोलें. जो बंदूक उठाएगा मारा जाएगा.'




वहीं राज्य के आईजी एसपी पाणि ने कहा, 'कश्मीर में युवाओं की आतंकियों के नियुक्ति पिछले कुछ महीनों में कम हुई है. कितने गाज़ी आए और कितने चले गए. घाटी में जो भी घुसपैठ करेगा वह जिंदा नहीं बचे.'

ये भी पढ़ें- शहीद मेजर विभूति ढौंढियाल को देखकर भावुक हुई पत्नी, पहले किया सैल्यूट फिर I Love You बोलकर दी विदाई

बता दें कि इससे पहले जानकारी आई थी कि जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले के दौरान आरडीएक्‍स का इस्‍तेमाल किया गया था. हमले में जिस तीव्र क्षमता के आरडीएक्‍स का इस्‍तेमाल किया गया है, वह डिफेंस फोर्सेज से ही मिलता है. फोरेंसिक एक्सपर्ट्स ने खुलासा करते हुए कहा है कि आतंकियों को इतना ताकतवर आरडीएक्‍स पाकिस्‍तान डिफेंस फोर्सेज की ओर से दिया गया था. गौरतलब है कि पुलवामा के हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

ये भी पढ़ें- पुलवामा अटैक में बड़ा खुलासा, आतंकियों को पाकिस्‍तान सेना से मिला था RDX!

जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकियों ने पिट्ठू बैग से आरडीएक्‍स को भारत के अंदर तक पहुंचाया था. इस हमले को अंजाम देने के लिए छह आतंकी भारत में घुसे थे और उन्‍होंने हमले की पूरी साजिश रची थी. हमले को अंजाम देने के लिए जिस गाड़ी का इस्‍तेमाल किया गया था उसका चेचिस नंबर भी मिटाने की कोशिश की गई थी. जांच में पता चला है कि आतंकियों के पास अभी भी 20 किलो के करीब आरडीएक्‍स मौजूद है. जिसे वो कभी भी हमले में इस्‍तेमाल कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :-  पुलवामा हमले का भारतीय सेना ने लिया बदला, मास्टरमाइंड मुठभेड़ में ढेर

जांच से पता चलता है कि इतने बड़े विस्‍फोट को करने के लिए आरडीएक्‍स को कई महीनों पहले ही भारत लाया गया होगा और हमले वाले दिन इसे 5 से 7 किलोमीटर की दूरी पर ही इसे तैयार किया गया होगा. सीनियर एक्सपर्ट ने दावा किया है कि इस हमले में करीब 50-70 किलोग्राम आरडीएक्‍स का इस्‍तेमाल किया गया था ताकि 100-300 किलोग्राम क्षमता वाली चीज को नष्‍ट किया जा सके.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज