'ओसामा' भारत में घुसपैठ की फिराक में, मसूद अज़हर से है खास कनेक्‍शन

'ओसामा' भारत में घुसपैठ की फिराक में, मसूद अज़हर से है खास कनेक्‍शन
ओसामा सियालकोट सैक्टर के इलाके से भारत में घुसबैठ करने की फ़िराक़ में है.

ओसामा अज़हर (Osama Azhar) नाम का ये आतंकी मसूद अज़हर (Masood Azhar) का रिश्तेदार है. ये जैश ए मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के सबसे क़रीबी और सबसे एक्टिव कमांडर में से एक माना जाता है. जैश के कई आतंकी गिरोहों की ज़िम्मेदारी इसी ओसामा के हाथों में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2019, 5:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय सेना (Indian Army) की सतर्कता के कारण पाकिस्‍तान समर्थित आतंकियों की घुसपैठ पर लगाम लगी है. लेकिन पाकिस्‍तान (Pakistan) में मौजूद आतंकी अपनी नापाक कोशिशों में लगे हुए हैं. पाक में मौजूद जैश ए मोहम्‍मद (Jaish-e-Mohammed) फिर से बड़ी साज़िश रचने लगा है. खुफिया रिपोर्ट में इस बात का ख़ुलासा हुआ है कि मसूद अज़हर (Masood Azhar) ने अपने एक क़रीबी को कश्मीर में भेजकर बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने का ज़िम्मा सौंपा है. ओसामा अज़हर नाम का ये आतंकी मसूद अज़हर का रिश्तेदार है. ये जैश ए मोहम्मद के सबसे क़रीबी और सबसे एक्टिव कमांडर में से एक माना जाता है. जैश के कई आतंकी गिरोहों की ज़िम्मेदारी इसी ओसामा के हाथों में है.

सूत्रों की मानें तो बालाकोट में जहां भारतीय वायुसेना ने स्ट्राइक की थी, वहां की ज़िम्मेदारी भी इसी ओसामा के हाथों में है. साथ ही मनशेरा के जैश के मरकज़ (केंद्र) का भी यही इंचार्ज है. ओसामा इससे पहले अफगानिस्तान में सक्रिय था. 2018 में मसूद अज़हर ने ओसामा को वापस बुलाया और भारत में घुसपैठ करने और कई मरकजों की जिम्मेदारी दी थी.

मसूद अजहर का सबसे भरोसेमंद है ओसामा
ओसामा, मसूद अज़हर का कितना भरोसेमंद है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसे जैश के गढ़ बहावलपुर की उस्मान वैली के मरकज़ की भी जिम्‍मेदारी दी गई है. यह पहली बार नहीं है जब मसूद अजहर ने अपने किसी करीबी को कश्मीर में आतंक फैलाने का ज़िम्मा सौंपा हो. इससे पहले भी मसूद अज़हर अपने रिश्तेदारों को कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए भेज चुका है. लेकिन भारतीय सेना ने मसूद अज़हर के भांजे और भतीजे को पहले ही मौत के घाट उतार दिया. उनकी मौत का बदला लेने के लिए मसूद अज़हर कई आतंकियों को कश्मीर भेज चुका है, लेकिन ज्‍यादातर को सेना ने मौत के घाट उतार दिया.
सूत्रों की मानें तो ओसामा सियालकोट सेक्टर के इलाके से भारत में घुसबैठ करने की फ़िराक़ में है. हालांकि भारतीय सेना की सीमा पर मुस्तैदी इतनी ज़बरदस्त है कि आतंकियों की घुसपैठ पिछले साल के मुक़ाबले इस साल अब तक न के बराबर ही हुई है.



यह भी पढ़ें :

मुशर्रफ ने माना-कश्‍मीरियों को PAK देता है आतंकी ट्रेनिंग, लादेन को बताया हीरो
‘कुलभूषण मामले में नहीं हुआ कोई समझौता, PAK कानून के तहत होगा फैसला’
फिर बढ़ सकती है इमरान की मुसीबत, फजलुर्रहमान ने प्रदर्शन का आह्वान किया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज