जयशंकर ने ब्राजील के विदेश मंत्री के साथ की चर्चा, कहा- शक्ति का नया संतुलन उभरने के लिए तैयार है

विदेश मंत्री एस. जयशंकर
विदेश मंत्री एस. जयशंकर

India-Brazil: जयशंकर ने एक ट्वीट में कहा कि ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) और भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका (आईबीएसए) सहित बहुपक्षीय मंचों पर भारत नजदीकी तौर पर काम करेगा.

  • भाषा
  • Last Updated: November 12, 2020, 12:09 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस जयशंकर (Minister of External Affairs S Jaishankar) ने बुधवार को ब्राजील (Brazil) के अपने समकक्ष एर्नेस्टो अरेजो के साथ विचारों का व्यापक आदान-प्रदान किया. दोनों नेताओं ने वैश्विक मामलों में अपने सहयोग को और मजबूत करने पर सहमति व्यक्त की तथा कोविड-19 (Covid-19) के बाद की दुनिया में भारत-ब्राजील (India-Brazil) रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के अवसरों पर चर्चा की. विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार दोनों देशों के मंत्रियों ने एक ऑनलाइन बैठक में आर्थिक पुनरुद्धार प्रयासों, स्वास्थ्य देखभाल, आपूर्ति श्रृंखला लचीलापन, साइबर सुरक्षा और सुधार किए हुए बहुपक्षवाद में भारत-ब्राजील सहयोग के महत्व पर चर्चा की.

बयान में कहा गया, ‘‘मंत्रियों ने कोविड-19 के बाद की दुनिया में भारत-ब्राजील रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के अवसरों पर चर्चा की और आर्थिक पुनरुद्धार प्रयासों, स्वास्थ्य देखभाल, आपूर्ति श्रृंखला लचीलापन, साइबर सुरक्षा और सुधार किए हुए बहुपक्षवाद में भारत-ब्राजील सहयोग के महत्व पर चर्चा की.’’ इसमें कहा गया कि मंत्रियों ने विचारों का व्यापक आदान-प्रदान किया और वैश्विक मामलों में अपने सहयोग को और मजबूत करने पर सहमति व्यक्त की.

ये भी पढ़ें- Pfizer Vaccine: तो क्या सिर्फ अमीर देशों को ही मिल सकेगी कोरोना की ये वैक्सीन?



कई क्षेत्रीय और बहुपक्षीय मुद्दों पर चर्चा
बयान में कहा गया कि दोनों मंत्रियों ने कई क्षेत्रीय और बहुपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की जिसमें विशेष रूप से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की भारत की आगामी सदस्यता, जी4 की भूमिका और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की प्राथमिकताओं से संबंधित मुद्दे शामिल थे. दोनों नेता बहुपक्षीय मंचों - ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) और भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका (आईबीएसए) में नजदीकी समन्वय करने पर सहमत हुए.

जयशंकर ने एक ट्वीट में कहा कि ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) और भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका (आईबीएसए) सहित बहुपक्षीय मंचों पर भारत नजदीकी तौर पर काम करेगा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ब्राजील के विदेश मंत्री एर्नेस्टो अरेजो के साथ सार्थक ऑनलाइन बैठक की. द्विपक्षीय सहयोग और वैश्विक घटनाक्रमों पर व्यापक चर्चा की. ब्रिक्स और आईबीएसए सहित बहुपक्षीय मंचों में नजदीकी तौर पर काम करेंगे.’’

जयशंकर ने फ्रांस में आतंकवादी हमले में जान गंवाने वाली एक ब्राजीलियाई नागरिक के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की.

बयान में कहा गया, ‘‘मंत्रियों ने आतंकवाद की उसके सभी स्वरूपों में कड़ी निंदा की और इस बुराई तथा संगठित अपराध का मुकाबला करने के अपने दृढ़ संकल्प भी दोहराया.’’

ये भी पढ़ें- बिहार नतीजे पर ओवैसी बोले: CAA-NRC पर चुप थे कांग्रेस-RJD, नतीजा सामने

तनाव से गुजर रहे विश्व के लिए जटिल कारक बना कोरोना
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि पहले से ही तनाव से गुजर रहे विश्व के लिए कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) एक जटिल कारक साबित हुई है और वर्तमान परिस्थितियों के चलते शक्ति का एक नया संतुलन उभरने को तैयार है.

जयशंकर ने एक सम्मेलन में इस बात का भी जिक्र किया कि महामारी के कारण उभरे हालात के मद्देनजर कई देशों ने अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा की परिभाषा को विस्तारित किया है और वे लचीली आपूर्ति श्रृंखला पर अधिक जोर दे रहे हैं. किसी का नाम लिए बिना विदेश मंत्री ने कहा कि हाल की घटनाओं से पता चलता है कि समान मानसिकता बहुपक्षवाद को निराश करेगी. उन्होंने कहा, ' इस बात में कोई शक नहीं है कि हम शक्ति एवं हितों के नए संतुलन की ओर बढ़ रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज