Home /News /nation /

जल्लीकट्टू पर फैसले को लेकर दायर याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज

जल्लीकट्टू पर फैसले को लेकर दायर याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज

Photo: News18

Photo: News18

उच्चतम न्यायालय ने सांड को काबू में करने के खेल जल्लीकट्टू पर शनिवार से पहले फैसला सुनाने की मांग को लेकर दायर याचिका खारिज कर दी है. इस खेल को 14 जनवरी को पोंगल के साथ मनाया जाना है.

  • Agencies
  • Last Updated :
    उच्चतम न्यायालय ने सांड को काबू में करने के खेल जल्लीकट्टू पर शनिवार से पहले फैसला सुनाने की मांग को लेकर दायर याचिका खारिज कर दी है. इस खेल को 14 जनवरी को पोंगल के साथ मनाया जाना है.

    न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति आर भानूमति की पीठ ने फैसला सुनाने का आग्रह करने वाले वकीलों के एक समूह से कहा कि पीठ को शनिवार से पहले फैसला पारित करने के लिए कहना अनुचित है.

    उच्चतम न्यायालय ने हालांकि यह कहा कि फैसले का मसौदा तैयार कर लिया गया है, लेकिन शनिवार से पहले फैसला सुनाना मुमकिन नहीं है.

    इस खेल को अनुमति देने संबंधी केंद्र की अधिसूचना को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर न्यायालय ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. इससे पहले न्यायालय ने जनवरी, 2016 की अधिसूचना पर केंद्र से जवाब मांगा था, जिसमें जल्लीकट्टू के लिए सांड के इस्तेमाल को हरी झंडी दी गई थी.

    न्यायालय ने कहा था कि जानवरों के इस्तेमाल को प्रतिबंधित करने संबंधी वर्ष 2014 के उसके फैसले को नकारा नहीं जा सकता है.

    परंपरा का समर्थन करते हुए केंद्र ने कहा कि वह यह सुनिश्चित कर सकता है कि खेल के दौरान सांड को चोट ना पहुंचे और उससे पहले उसे शराब ना पिलाई जाए.

    इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने वर्ष 2014 के अपने फैसले में कहा था कि सांड का इस्तेमाल करतब दिखाने वाले जानवरों की तरह नहीं किया जा सकता है. शीर्ष न्यायालय ने वर्ष 2014 के फैसले के खिलाफ दायर पुनर्विचार याचिका को भी खारिज कर दिया था.

    उच्चतम न्यायालय ने केंद्र की आठ जनवरी की अधिसूचना पर भी रोक लगा दी थी.

    Tags: Jallikattu, Supreme Court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर