• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • आईएएस के सरकारी आवास में लगती थी जमात की पाठशाला 

आईएएस के सरकारी आवास में लगती थी जमात की पाठशाला 

आइएएस

आइएएस इफ्तिखारुद्दीन के आवास पर लोगों को धार्मिक पाठ पढ़ाते इस्लामिक धर्मगुरु 

वीडियो में इस्लामिक वक्ता उपस्थित लोगो को इस्लाम धर्म कबूल करने के फायदे बताने के साथ कई मन गढ़ंत कहानियां भी सुना रहा है. वह बताता है कि इस्लाम में बहन बेटियों को जलाया नही जाता.

  • Share this:

    सीनियर आईएएस  इफ्तिखारुद्दीन का एक वीडियो वायरल हुआ है. इसमें वह अपने सरकारी आवास में एक धर्म गुरु के साथ कुछ लोगों के सामने इस्लाम धर्म अपनाने के फायदे बता रहे है. वीडियो में इस्लामिक वक्ता उपस्थित लोगो को इस्लाम धर्म कबूल करने के फायदे बताने के साथ कई मन गढ़ंत कहानियां भी सुना रहा है. वह बताता है कि इस्लाम में बहन बेटियों को जलाया नही जाता. वह कहता है कि अल्लाह ने हमे उत्तर प्रदेश के तौर पर एक ऐसा सेंटर दिया है जहां से पूरे देश और पूरी दुनिया में काम किया जा सकता है. वहीं सीनियर आईएएस इफ्तिखारुद्दीन भी वहां बैठे लोगों को इस्लामिक कट्टरता का पाठ पढ़ा रहे है कि ऐलान करो दुनिया के इंसानो से कि अल्लाह की बादशाहत और निज़ामियात पूरी दुनिया में कायम करनी है.
    मुस्लिम वक्ता के सामने जमीन में बैठ नजर आ रहे हैं  आईएएस
     इफ्तिखारुद्दीन वीडियो में जब आईएएस के सरकारी आवास में  मुस्लिम धर्मगुरु कट्टरता का पाठ पढ़ा रहा है, उस वक़्त वह जमीन पर बैठे नज़र आ रहे हैं. इस दौरान इस्लामिक वक्ता दावा करता है कि पिछले दिनों पंजाब के एक भाई ने इस्लाम कुबूल किया तो मैंने उनको दावत नहीं दी थी. हम लोग जाते हैं और तबलीगी जमात करते हैं. उनके इस्लाम कुबूल करने पर मैंने उनसे पूछा कि इस्लाम क्यों कबूल किया ? इस पर पर उन्होंने कहा कि बहन की मौत का हवाला दिया. उन्होंने कहा कि जब उसको मरने पर दहन करेंगे तो उनके कपड़े जल गए और वह निर्वस्त्र हो गई. इस दौरान सब देख रहे थे. मुझे बहुत शर्म आई तो मैं वहां से निकल गया और फिर मैंने सोचा कि आज तो मेरी बहन को लोग देख रहे हैं. मेरी बेटी भी है कल लोग उसको भी देखेंगे. मरने के बाद यह भी ऐसे ही जलेगी फिर मेरे दिल में आया कि इस्लाम से अच्छा कोई धर्म नहीं है. इसे मुझे कुबूल कर लेना चाहिए.
    पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की पुस्तक का जिक्र कर पढ़ाया जा रहा कट्टरता का पाठ
    इस पूरे मामले में  IAS इफ्तिखारुद्दीन के अन्य दो वीडियो में वह पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की किताब के बारे में बता रहे है. वीडियो में वह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि ऐलान करो बताओ पूरी दुनिया के इंसानो को अल्लाह और रसूल के मिशन को आगे बढ़ाएं. अल्लाह के नूर का ईद नाम होना है. पूरे ज़मी पर अल्लाह का निज़ाम दाखिल होना है. कैसे होगा यहां पर जो इंसान बैठे हैं. इनको यह काम करना चाहिए जरूर करना चाहिए नहीं तो अल्लाह इनको पकड़ेगा.
    डिप्टी सीएम मौर्या बोले, मामले को गंभीरता से लेंगे
    केशव  प्रसाद मौर्या का कहना है कि यह एक गंभीर मामला है. यदि ऐसा कुछ है तो उस को गंभीरता से लिया जायेगा. इस पूरे मामले को मठ एवं मंदिर समन्वय समिति के अध्यक्ष भूपेश अवस्थी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिकायत की है.

    न्यूज 18 लोकल के लिए आलोक तिवारी की रिपोर्ट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज