जम्मू-कश्मीर: 18 घंटे चले ऑपरेशन के दौरान सुरक्षाबलों ने मार गिराए 8 आतंकी

जम्मू-कश्मीर: 18 घंटे चले ऑपरेशन के दौरान सुरक्षाबलों ने मार गिराए 8 आतंकी
सुरक्षाबलों ने कल से 8 आतंकियों को मार गिराया है (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में विक्टर फोर्स के जनरल ऑपरेशन कमांडिंग (GOC) ए सेनगुप्ता ने बताया, "कल दोपहर से शुरू हुए 18 घंटे से अधिक चले दो ऑपरेशनों के तहत बेहद ही सटीक खुफिया जानकारी और कड़ी मेहनत के जरिए हम 8 आतंकवादियों (Terrorists) को मार पाने में कामयाब रहे."

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2020, 6:41 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में शुक्रवार से चलाए जा रहे एक आतंकरोधी अभियान (Counter terrorist operations) में अब तक 8 आतंकियों (Terrorists) को मारा जा चुका है, जबकि 1 आतंकवादी ने आत्मसमर्पण (surrender) किया है. इस बात की जानकारी जम्मू-कश्मीर में विक्टर फोर्स के जनरल ऑपरेशन कमांडिंग (GOC) ए सेनगुप्ता ने दी. उन्होंने बताया कि इस दौरान दो ऑपरेशन (operations) चलाए गये थे, जो 18 घंटे से भी ज्यादा देर तक चले. उन्होंने यह भी बताया कि इन ऑपरेशन को जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu-Kashmir Police) ने सुरक्षा बलों के साथ मिलकर अंजाम दिया.

जम्मू-कश्मीर में विक्टर फोर्स के जनरल ऑपरेशन कमांडिंग (GOC) ए सेनगुप्ता ने बताया, "कल दोपहर से शुरू हुए 18 घंटे से अधिक चले दो ऑपरेशनों के तहत, जम्मू-कश्मीर पुलिस और आरआर बटालियनों (RR Battalions) की बेहद ही सटीक खुफिया जानकारी और कड़ी मेहनत (very precise intelligence and hard work) के जरिए हम 8 आतंकवादियों को मार पाने में कामयाब रहे, साथ ही एक आतंकवादी ने आत्मसमर्पण किया है." इस ऑपरेशन के बारे में सेना ने शुक्रवार को यह बताया था कि आतंकियों के पास से 2 एके-47 रायफलें (AK-47 Rifles) और 3 पिस्टल भी बरामद की गई हैं.

अल-बद्र नाम के एक आतंकी संगठन का प्रमुख भी मारा गया
इस घटना के बारे में कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने शुक्रवार को बताया, शोपियां पुलिस को जानकारी दी गई थी कि 4-5 आतंकवादी किलूरा इलाके में एक बाग में हैं. जब सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी शुरू कर दी, तो आतंकियों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी. चार आतंकी मारे गये, जबकि एक को पकड़ लिया गया. उससे पूछताछ की जा रही है.
यह भी पढ़ें:- बढ़ सकती है बॉलीवुड क्वीन कंगना की मुश्किलें, पुलिस को मिली एक गंभीर मामले...



उन्होंने बताया था कि ऑपरेशन के दौरान जिन चार आतंकियों को मारा गया, उनमें शकूर अहमद पारे सबसे महत्वपूर्ण है. वह स्पेशल पुलिस अफसर (SPO) था और बाद में कॉन्स्टेबल बना दिया गया था. वह चार एके-47 राइफलों के साथ भाग गया था और एक आतंकवादी समूह अल-बद्र बना लिया था और 10 युवाओं को उसमें भर्ती कर लिया था, जिसमें से 5 मारे जा चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज