• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कश्मीर में बड़ी संख्या में आतंकियों के घुसने की आशंका, इंटरनेट-मोबाइल बंद, 2 दिन से घुसपैठियों को ढूंढ रही सेना

कश्मीर में बड़ी संख्या में आतंकियों के घुसने की आशंका, इंटरनेट-मोबाइल बंद, 2 दिन से घुसपैठियों को ढूंढ रही सेना

नियंत्रण रेखा पर तैनात सेना का एक जवान. (सांकेतिक फोटो)

नियंत्रण रेखा पर तैनात सेना का एक जवान. (सांकेतिक फोटो)

Jammu and Kashmir: रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान से 6 आतंकी घुसपैठ करने में कामयाब रहे हैं. घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम करने के दौरान फायरिंग में एक सैनिक भी घायल हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    श्रीनगर. भारतीय सेना (Indian Army) ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में एक बड़ा तलाशी अभियान (Search Operation) चलाया जा रहा है. अधिकारियों ने आशंका जताई कि आतंकियों (Terrorists) द्वारा एलओसी (LoC) पर हाल के वर्षों की सबसे बड़ी घुसपैठ हुई है, जिसे नाकाम करने के लिए लगातार दूसरे दिन तलाशी अभियान चलाया गया. संदिग्ध गतिविधियों का पता चलने के मद्देनजर सेना के जारी तलाशी अभियान में मदद के लिए सोमवार को बारामुला के उरी सेक्टर में मोबाइल, टेलीफोन और इंटरनेट सेवाएं (Internet Services) बंद कर दी गईं. सेना को 18 और 19 सितंबर की दरमियानी रात को उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास ‘संदिग्ध गतिविधि’ का पता चला था, जिसके बाद इलाके में एक अभियान शुरू किया गया था.

    बता दें कि इसी दिन उरी अटैक को पांच साल पूरे हुए हैं, उरी अटैक में 19 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले को 18 सितंबर 2016 के दिन उरी में सैन्य प्रतिष्ठान को निशाना बनाकर दो आत्मघाती हमलावरों ने अंजाम दिया था. उरी अटैक के जवाब में भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक की और लाइन ऑफ कंट्रोल के पार जाकर कई सारे आतंकी ठिकाने ध्वस्त कर दिए. एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान से 6 आतंकी घुसपैठ करने में कामयाब रहे हैं. घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम करने के दौरान फायरिंग में एक सैनिक भी घायल हो गया है.

    सेना ने कहा कि घुसपैठियों को पकड़ने के लिए अभियान जारी है, हालांकि जमीनी स्थिति अभी क्लियर नहीं है. हालांकि ये पहली बार नहीं है, जब सीमा पार से घुसपैठ को देखते हुए फोन और इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हों. सेना ने कहा कि फरवरी में भारत और पाकिस्तान के बीच सीजफायर समझौते के बाद बड़े पैमाने पर घुसपैठ का ये दूसरा मामला है.

    आर्मी ने कहा कि उसके बाद से सीजफायर उल्लंघन की कोई घटना नहीं हुई थी और ना ही पाकिस्तान की ओर से कोई उकसाने वाली कार्रवाई की गई थी. 15वीं कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे ने कहा, ‘इस साल सीजफायर की कोई घटना नहीं हुई है. लेकिन हम सीजफायर उल्लंघन की किसी भी स्थिति के लिए तैयार हैं. लेकिन सच ये है कि सीमा पार से उकसावे वाली कोई कार्रवाई नहीं हुई है.’

    उन्होंने कहा, ‘उरी में पिछले 24 घंटों से ज्यादा समय से तलाशी अभियान चल रहा है, जिसमें हमने पाया है कि आतंकियों की ओर से घुसपैठ हुई है. हम उन्हें ढूंढ़ रहे हैं. क्या वे हमारी सीमा में हैं या घुसपैठ करने के बाद वापस लौट गए. ये स्थिति अभी क्लियर नहीं है.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज