कश्मीर में करेंगे इतना विकास कि PoK के लोग भी भारत में रहना चाहेंगे: सत्यपाल मलिक

गवर्नर सत्यपाल मलिक (Governor Satyapal Malik) ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को दिए अपने कश्मीर (Kashmir) आने के न्योते को भी रद्द कर दिया है और उन्हें सलाह दी है कि निकट भविष्य में कश्मीर की यात्रा पर निकलने से पहले उपयुक्त अनुमति लेकर ही निकलें.

News18Hindi
Updated: August 26, 2019, 10:09 PM IST
कश्मीर में करेंगे इतना विकास कि PoK के लोग भी भारत में रहना चाहेंगे: सत्यपाल मलिक
कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी को दिया कश्मीर आने का न्यौता वापस ले लिया है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 26, 2019, 10:09 PM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के कुछ इलाकों में टेलीफोन और मोबाइल सेवाओं (Telephone and Mobile Services) के प्रयोग पर सरकार के प्रतिबंधों (Restrictions) का बचाव करते हुए जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Governor Satyapal Malik) ने सोमवार को कहा है कि लोग टेलीफोन सेवाओं के लिए इंतजार कर सकते हैं लेकिन हमारी प्राथमिकता यह सुनिश्चित करने की है कि जिंदगियों का नुकसान न हो.

उन्होंने एएनआई से बातचीत में कहा, "गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) के वक्त भी, लोगों को अपनी जिंदगियां खोनी पड़ी थीं. हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि एक भी जिंदगी का नुकसान न हो. हर कश्मीरी जिंदगी अनमोल है. हमारे लिए, प्राथमिकता यह सुनिश्चित करना है कि वहां पर कोई जान न जाए, लोग टेलीफोन सेवाओं के बहाल होने के लिए दस दिन का इंतजार कर सकते हैं. इलाके ने ऐसी बंदी भी देखी है जो चार महीने तक चलती रही है.''

15 दिनों में कश्मीर में आ जाएगा बदलाव
गवर्नर ने दावा किया कि 15 दिनों के अंदर इलाके में बदलाव स्पष्ट तौर से देखा जा सकेगा. सामान्य परिस्थितियों को दोबारा स्थापित करने के लिए, सरकार लोगों की जिंदगियों, जमीनों और नौकरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी.

यह कहा जा रहा है कि सरकार ने अनुच्छेद 370 और 35A (Article 370 and 35A) हटाए जाने के बाद मोबाइल और लैंडलाइन कनेक्शन बंद कर दिए थे, इन्हें चरणों में फिर से स्थापित किया जाएगा. इसके अलावा प्रशासन ने संचार व्यवस्था पूरी तरह से बंद होने की स्थिति में भी जगह-जगह टेलीफोन बूथ लगा रखे हैं ताकि लोगों को बहुत ज्यादा असुविधाओं का सामना न करना पड़े.

मलिक ने राहुल गांधी को दिया कश्मीर आने का न्योता लिया वापस
मलिक ने राहुल गांधी को दिए अपने कश्मीर आने के न्योते को भी रद्द कर दिया है और उन्हें सलाह दी है कि निकट भविष्य में कश्मीर की यात्रा पर निकलने से पहले उपयुक्त अनुमति लेकर ही निकलें.
Loading...

गवर्नर ने कहा, ''मैं चाहता हूं कि मेरे न्योता देने के मुद्दे पर बात बंद हो. मैंने यह न्योता तब दिया था, जब उन्होंने कश्मीर को लेकर एक गुमराह करने वाली बात कही थी. पांच दिनों तक उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी. उसके बाद उन्होंने कहा मैं अपने साथ लोगों को लूंगा और जेल में बंद और हिरासत में लिए गए लोगों से मिलूंगा. उसके बाद मैंने उनसे कहा कि मैं इन शर्तों पर आपकी कश्मीर यात्रा को नहीं स्वीकार करूंगा. मैं अपने न्योते को वापस लेता हूं और आप उपयुक्त अनुमति लेकर ही आ सकते हैं."

कहा, करेंगे ऐसा विकास कि PoK के लोग भी आना चाहेंगे भारत
राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को कश्मीर गया था लेकिन उसे श्रीनगर एयरपोर्ट से ही दिल्ली वापस भेज दिया गया.

जम्मू-कश्मीर के गवर्नर ने यह वादा भी किया है कि बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार इस इलाके को इतना समृद्ध बना देगी कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) के नागरिक भी नए बने जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश में रहना चाहेंगे.

यह भी पढ़ें: 

ट्रंप के सामने भी मोदी ने कहा, भारत-पाक के सभी मुद्दे द्विपक्षीय, किसी तीसरे देश को कष्‍ट नहीं देंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 9:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...