अपना शहर चुनें

States

जम्मू-कश्मीर: जैश की साजिश नाकाम, बंदीपोरा में 5 ग्रेनेड के साथ आतंकी गिरफ्तार

आतंकवादी से एक पिस्टल और 5 ग्रेनेड बरामद हुए हैं. (फोटो: ANI/Twitter)
आतंकवादी से एक पिस्टल और 5 ग्रेनेड बरामद हुए हैं. (फोटो: ANI/Twitter)

Jammu and Kashmir: बुधवार को राज्य में सुरक्षाबलों के चेकपोस्ट पर ग्रेनेड से हमला (Grenade Attack) किया गया था. इस हमले में एक जवान शहीद हुआ, वहीं तीन घायल हो गए थे. जब यह हमला हुआ, तब सुरक्षाबल के जवान शमसीपोरा हाईवे पर गश्त कर रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 8:58 PM IST
  • Share this:
जम्मू. जम्मू-कश्मीर में पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद (Jaish E Mohammad) की एक और बड़ी साजिश को नाकाम किया है. गुरुवार को बंदीपोरा (Bandipora) पुलिस ने जैश के आतंकी को गिरफ्तार किया है. आतंकी के पास से हथियार और ग्रेनेड भी बरामद हुए हैं. बीते कुछ समय से सुरक्षाबलों पर हमले बढ़े हैं. बुधवार को भी कुलगाम (Kulgam) में गश्त के दौरान सेना के जवानों पर ग्रेनेड अटैक हुआ था, जिसमें एक सैनिक शहीद हो गया था. जबकि, तीन घायल हुए थे.

जम्मू-कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद ने फिर से अपनी सक्रियता बढ़ा दी है. एक बार फिर पुलिस के हाथों आतंकवादी संगठन का एक सदस्य लगा है. स्थानीय पुलिस और सुरक्षा बलों ने क्षेत्र में चेकपॉइंट लगाया था. इसी दौरान जैश का आतंकी पकड़ गया है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, बांदीपोरा पुलिस की गिरफ्त में आए आतंकवादी से एक पिस्टल और 5 हैंड ग्रेनेड बरामद हुए हैं.





चेकपोस्ट पर ही हुआ था एक दिन पहले हमला
बुधवार को राज्य में सुरक्षाबलों के चेकपोस्ट पर ग्रेनेड से हमला किया गया था. इस हमले में एक जवान शहीद हुआ, वहीं तीन घायल हो गए थे. जब यह हमला हुआ, तब सुरक्षाबल के जवान शमसीपोरा हाईवे पर गश्त कर रहे थे. हालांकि, इस हमले में शामिल आतंकवादी भागने में सफल हुए. तीनों घायल जवानों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स ने बताया कि दो जवानों की स्थिति गंभीर थी.

खूफिया सुरंगों के जरिए पाक फैला रहा अशांति
बीते शनिवार को भी सीमा सुरक्षा बलों के जवानों ने कठुआ जिले में एक 150 मीटर लंबी सुरंग का पता लगाया था. अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान आतंकवादियों को भारत में दाखिल कराने के लिए इस सुरंग का इस्तेमाल करता था. इससे पहले भी एक सुरंग का पता चला था. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, गणतंत्र दिवस से पहले जम्मू-कश्मीर के लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा ने सुरक्षा अधिकारियों के साथ बैठक की थी..

इस बैठक में पाकिस्तान की पुराने आतंकी संगठनों को फिर से तैयार करने की रणनीति पर चर्चा की गई थी. रिपोर्ट के अनुसार, सूत्रों ने बताया है कि पाकिस्तान ऐसे कुछ आतंकी संगठनों को बढ़ावा दे रहा है, जो गुमनामी में चले गए थे. इन संगठनों के जरिए पाक लश्कर और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों की तरफ से ध्यान भटकाने के लिए कर रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज