लाइव टीवी

मिसाल : मुस्लिम समुदाय की सहमति के बाद गिराई जाएगी 40 साल पुरानी मस्जिद, बनेगा पुल

भाषा
Updated: December 23, 2019, 8:36 AM IST
मिसाल : मुस्लिम समुदाय की सहमति के बाद गिराई जाएगी 40 साल पुरानी मस्जिद, बनेगा पुल
सांकेतिक तस्वीर

10 करोड़ रुपये की लागत वाली यह पुल परियोजना (Project) 2002 में शुरू हुई थी लेकिन अधिग्रहण और अड़चनों को दूर करने समेत कई मुद्दों के कारण इसे पूरा नहीं किया जा सका था.

  • Share this:
श्रीनगर. झेलम नदी (Jhelum River) पर लंबे समय से पुल के काम को पूरा करने के लिए मुस्लिम समुदाय (Muslim community) एक 40 साल पुरानी मस्जिद (Mosque) को गिराने के लिए सहमत हो गया है. साल 2002 से ये प्रोजेक्ट लटका था. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि मस्जिद, कुछ आवासीय और कमर्शियल प्रोपर्टी के चलते कई दिक्कतें आ रही थी.

मस्जिद गिराने का काम शुरू
सरकारी अधिकारियों के मुताबिक कमरवारी के रामपुरा क्षेत्र में श्रीनगर जिला विकास आयुक्त शाहिद इकबाल चौधरी और मस्जिद अबू तुराब की प्रबंध समिति के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर हुआ. इसके 24 घंटे बाद शनिवार को मस्जिद गिराने का काम शुरू हुआ.

ऐसे बनी सहमति



अधिकारियों ने बताया कि जिला विकास आयुक्त ने प्रमुख भूमि अधिग्रहण मुद्दे के समाधान के लिए मस्जिद प्रबंधन के साथ कई बैठकें कीं. उन्होंने बताया कि सरकार और मस्जिद प्रबंधन के बीच समझौता हुआ है, जिसमें जिला प्रशासन की ओर से मस्जिद के पुनर्निर्माण की पूरी लागत वहन करने और 12 महीने के भीतर इसे पूरा किए जाने का प्रस्ताव शामिल हैं.



अधिकारियों ने बताया कि 10 करोड़ रुपये की लागत वाली यह पुल परियोजना 2002 में शुरू हुई थी लेकिन अधिग्रहण और अड़चनों को दूर करने समेत कई मुद्दों के कारण इसे पूरा नहीं किया जा सका था.

पहले भी बनी है ऐसी सहमति
यह दूसरा उदाहरण है जब उपायुक्त के प्रयासों से महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर रुके हुए काम को फिर से शुरू करने का मार्ग प्रशस्त हुआ है. इस महीने की शुरुआत में उन्होंने श्रीनगर को बारामूला से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए जैनाकोट में ऐतिहासिक दमदमा साहिब गुरुद्वारे के प्रबंधन से सफल बातचीत की थी.

ये भी पढ़ें:

Post Office में खोलें ये खास खाता! गारंटीड मुनाफे के साथ मिलेंगे ये बड़े फायदे

जम्मू-कश्मीर के सोपोर से लश्कर का एक आतंकी गिरफ्तार, पुलिस कर रही पूछताछ

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 23, 2019, 8:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading