Assembly Banner 2021

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की बुलेटप्रूफ़ हेलमेट लूटने की नई साज़िश के पीछे नक्सली, पढ़ें ये रिपोर्ट

सुरक्षा बलों के हाथ अल बद्र के आतंकियों की सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हुई एक बातचीत हाथ लगी थी. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

सुरक्षा बलों के हाथ अल बद्र के आतंकियों की सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हुई एक बातचीत हाथ लगी थी. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

Jammu-Kashmir Terrorism: खुफ़िया एजेंसियों को मिले इनपुट में ये खुलासा हुआ है कि आतंकियों को बुलेटप्रूफ़ हेलमेट लूटने का आईडिया नक्सलियों से मिला. आतंकी संगठनों (Terrorists Organization) ने अपने साथियों को किसी भी तरीके से बुलेटप्रूफ़ हेलमेट का जुगाड़ करने को कहा है.

  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में तबाही मचाने वालों आतंकवादियों ने उपद्रव का नया रास्ता खोजा है. अब वे नक्सलियों की तरह सुरक्षाबलों से हेलमेट जैसे सुरक्षा उपकरण पाने की तैयारी कर रहे हैं. न्यूज़18 ने कुछ दिनों पहले जम्मू कश्मीर में आपको आतंकियों की नई साज़िश के बारे में बताया था, जिसके तहत वो आनेवाले वक़्त में सुरक्षा बलों से बुलेटप्रूफ़ हेलमेट (Bulletproof Helmet) लूटने की योजना बना रहे हैं.

अब हम आपको आतंकियों की इस नई साज़िश के पीछे की कहानी बताएंगे कि आखिर सालों से कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) में सुरक्षा बलों से हथियार लूटने या छीनने के काम में लगे आतंकियों को अचानक बुलेटप्रूफ़ हेलमेट लूटने का आईडिया कहां से आया?

खुफ़िया एजेंसियों को मिले इनपुट में ये खुलासा हुआ है कि आतंकियों को बुलेटप्रूफ़ हेलमेट लूटने का आईडिया नक्सलियों से मिला. दरसअल, इसी साल  9 मार्च को जम्मू कश्मीर के सोपोर में आतंकी संगठन अल बद्र का चीफ ऑपरेशनल कमांडर अब्दुल गनी ख्वाजा मारा गया था. उसकी मौत सिर में गोली लगने की वजह से हुई थी. उसकी मौत के बात सुरक्षा बलों के हाथ अल बद्र के आतंकियों की सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हुई एक बातचीत हाथ लगी थी.



यह भी पढ़ें: श्रीनगर में बीजेपी नेता अनवर खान के घर पर आतंकी हमला, संतरी घायल
इसी बातचीत में अल बद्र के आतंकी छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का जिक्र कर रहे हैं कि कैसे नक्सली सुरक्षा बलों की बुलेटप्रूफ़ हेलमेट लूट कर उसका इस्तेमाल करते हैं. आतंकी बातचीत में ये भी कहते हैं कि अगर अल बद्र के चीफ ऑपरेशनल कमांडर अब्दुल गनी ने बुलेट प्रूफ़ हेलमेट पहनी होती तो वो बच जाता.
इसी के बाद आतंकी संगठनों ने अपने साथियों को किसी भी तरीके से बुलेटप्रूफ़ हेलमेट का जुगाड़ करने को कहा चाहे वो लूटकर,छीनकर या सुरक्षा बलों को मारकर ही क्यों न मिले.

ख़ुफ़िया एजेंसियों को मिले इनपुट के मुताबिक आतंकी संगठनों से जुड़े ओवरग्राउंड वर्कर, समर्थक भी आतंकियों की इस नई साज़िश में उनका साथ दे सकते हैं. इस बावत सुरक्षा बलों को अलर्ट कर दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज