जम्मू-कश्मीर: महत्वपूर्ण स्थानों के सामने फोटो लेकर पाकिस्तान भेजता था जासूस, सुरक्षाबलों ने पकड़ा

पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे संदिग्ध आतंकी को जम्मू कश्मीर पुलिस ने पकड़ा.   (सांकेतिक फोटो)
पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे संदिग्ध आतंकी को जम्मू कश्मीर पुलिस ने पकड़ा. (सांकेतिक फोटो)

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) पुलिस ने जासूसी (Spying)के आरोप में गिरफ्तार कुलजीत के पास से 4 मोबाइल फोन भी जब्त किए हैं. इन फोन के अंदर जम्मू-कश्मीर के कई महत्वपूर्ण स्थानों की फोटो मिली है. इन फोटो को कुलजीत ने पाकिस्तान के नंबर पर शेयर किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2020, 11:12 AM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) पुलिस ने सांबा​ जिले से पाकिस्तान (Pakistan) के लिए जासूसी (Spying) करने के संदिग्ध आरोपी कुलजीत कुमार को गिरफ्तार किया है. जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक, कुलजीत जानकर सांबा में महत्वपूर्ण स्थानों पर फोटो खिंचवाता था और उसे पाकिस्तान भेज देता था. कुलजीत ये काम पिछले 2 साल से कर रहा है. शुरुआती जांच में पता चला है कि कुलजीत को कथित तौर पर इसके लिए पाकिस्तान से पैसे दिए जाते थे.

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जासूसी के आरोप में गिरफ्तार कुलजीत के पास से 4 मोबाइल फोन भी जब्त किए हैं. इन फोन के अंदर जम्मू-कश्मीर के कई महत्वपूर्ण स्थानों की फोटो मिली है. इन फोटो को कुलजीत ने पाकिस्तान के नंबर पर शेयर किया है. आरोपी के पास से पुलिस को कई सारे सिम भी बरामद हुए हैं. सांबा पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेशकर रिमांड पर ले लिया है.

इसे भी पढ़ें :- जम्मू-कश्मीर: आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने नेताओं को दी खुलेआम धमकी- राजनीति से दूर रहो वरना...
सुरक्षा एजेंसियां अब जासूसी के आरोप में गिरफ्तार ​कुलजीत के पूरे नेटवर्क का पता लगाने में जुटी हुई है. इसी के साथ ये भी पता करने की कोशिश कर रही है कि कुलजीत इन फोटो को पाकिस्तान में किसके पास भेजा करता था. जांच एजेंसी इस बात का भी पता लगाना चाहती है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन के लोगों ने उससे कैसे संपर्क किया और उसके पास पैसा कहां से आता है.



इसे भी पढ़ें :- कश्मीर में 11 केंद्रीय कानून होंगे लागू, राज्य के 10 कानूनों में हुआ बदलाव

इस गिरफ्तारी पर बोलते हुए वरिष्ठ सांबा के पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) राजेश शर्मा ने कहा, हमने सांबा पुलिस स्टेशन में शत्रु एजेंटों के अध्यादेश अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. हमारी जांच जारी है और इस पूरे नेटवर्क का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज