जम्मू-कश्मीर: अचानक गांव पहुंचे उपराज्यपाल, स्थानीय रह गये हैरान

जम्मू-कश्मीर: अचानक गांव पहुंचे उपराज्यपाल, स्थानीय रह गये हैरान
केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा की फाइल फोटो (फाइल फोटो)

उपराज्यपाल (Lt Governor) ने एक घंटे से अधिक समय तक रह कर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और विभिन्न विभागों के अधिकारियों से बातचीत की. ‘जन अभियान’ (Mass campaign) कार्यक्रम के तहत ‘ब्लॉक दिवस’ (Block Divas) का आयोजन किया गया.

  • भाषा
  • Last Updated: September 16, 2020, 8:48 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Lt Governor Manoj Sinha) ने बुधवार को श्रीनगर (Srinagar) के बाहर स्थित एक गांव का अचानक दौरा किया और स्थानीय लोगों (Local People) से बातचीत की. उन्होंने कहा कि विकास का उनका दृष्टिकोण वित्तीय और तकनीकी पहलुओं (Financial and Technical Aspects) को ध्यान में रख कर बनाई गई वास्तविक योजनाओं (plans) पर आधारित है. अधिकारियों ने बताया कि ‘ब्लॉक दिवस’ के अवसर पर सिन्हा के खोनमोह गांव (Khonmoh Village) के दौरे से गांव के लोग हैरान रह गए. उपराज्यपाल (Lt Governor) ने वहां एक घंटे से अधिक समय तक रह कर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और विभिन्न विभागों के अधिकारियों से बातचीत की. ‘जन अभियान’ (Mass campaign) कार्यक्रम के तहत ‘ब्लॉक दिवस’ का आयोजन किया गया.

खोनमोह के अलावा पंजीनारा (Panjinara) और धारा इलाकों में भी ‘ब्लॉक दिवस’ (Block Divas) आयोजित किया गया. इन कार्यक्रमों में श्रीनगर (Srinagar) के उपायुक्त (Deputy Commissioner) शाहिद इकबाल चौधरी ने शिरकत की और उपराज्यपाल (Lieutenant Governor) को ब्लॉक में योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी दी.

सरकारी अधिकारियों को आदेश कि योजनाओं के गठन, स्थानीय समस्याओं का समाधान तलाशें
सिन्हा ने कहा, ‘‘विकास संबंधी मेरा दृष्टिकोण वित्तीय एवं तकनीकी पहलुओं को ध्यान में रखकर बनाई गई वास्तविक योजनाओं पर आधारित है. मैं केवल घोषणाएं करने के बजाए वास्तविक विकासात्मक पहलुओं को प्रोत्साहित करूंगा.’’
यह भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने बताया कौन से बैंकों की हालत है बेहद खराब, आ रहा है नया कानून



उन्होंने कहा कि उन्होंने सरकारी अधिकारियों को आदेश दिया है कि वे योजनाओं के गठन, स्थानीय समस्याओं का समाधान तलाशने और वित्तीय संसाधनों के तर्कसंगत उपयोग में पंचायत संस्थाओं एवं लोगों की मदद के लिए साप्ताहिक कार्यक्रमों में शामिल हों.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading