जम्मू कश्मीर: SC आज कर सकती है अनुच्छेद 35-A पर सुनवाई

इससे पहले अनुच्छेद 35A को लेकर पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा था, 'आग से मत खेलो, 35A से छेड़छाड़ मत कीजिए. अगर ऐसा हुआ तो वह होगा जो 1947 से आज तक नहीं हुआ है.'

News18Hindi
Updated: March 6, 2019, 4:39 AM IST
जम्मू कश्मीर: SC आज कर सकती है अनुच्छेद 35-A पर सुनवाई
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: March 6, 2019, 4:39 AM IST
इस समय देशभर में इस बात की चर्चा है कि केंद्र सरकार संविधान के अनुच्छेद 35A को खत्म करने पर विचार कर रही है. इस बीच नेशनल कांफ्रेंस का कहना है कि उनकी पार्टी अनुच्छेद 35ए और 370 के संरक्षण के लिए हर तरह की लड़ाई लड़ेगी. वह कोर्ट के बाहर और अंदर दोनों जगहों पर प्रयास करेगी. वहीं सुप्रीम कोर्ट बुधवार को संविधान के अनुच्छेद 35 ए की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई कर सकता है.

इससे पहले अनुच्छेद 35A को लेकर पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा था, 'आग से मत खेलो, 35A से छेड़छाड़ मत कीजिए. अगर ऐसा हुआ तो वह होगा जो 1947 से आज तक नहीं हुआ है. मुझे नहीं पता कि जम्मू-कश्मीर के लोग मजबूर होकर तिरंगे की जगह कौन सा झंडा उठा लेंगे.'

क्या है आर्टिकल 35A?
35A भारतीय संविधान का वह अनुच्छेद है जिसमें जम्मू-कश्मीर विधानसभा को लेकर विशेष प्रावधान है. यह अनुच्छेद राज्य को यह तय करने की शक्ति देता है कि वहां का स्थाई नागरिक कौन है? वैसे 1956 में बने जम्मू-कश्मीर के संविधान में स्थायी नागरिकता को परिभाषित किया गया था. यह अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर में ऐसे लोगों को कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने या उसका मालिक बनने से रोकता है, जो वहां के स्थायी नागरिक नहीं हैं.

ये भी पढ़ें: दबाव का असर! हाफिज सईद की संस्था जमात-उद-दावा और फलह-ए-इंसानियत को पाक सरकार ने किया बैन

ये भी पढ़ें: भारतीय सेना ने मेंढर के पार पाकिस्तानी पोस्ट को उड़ाया, फायरिंग जारी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...