जम्‍मू-कश्‍मीर का तरक्‍की की राह में पहला कदम, 12-14 अक्‍टूबर को होगा ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स समिट

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के प्रधान सचिव (वाणिज्य व उद्योग) एनके चौधरी ने बताया, ग्‍लोबल इन्वेस्टर्स समिट (Global Investors Summit) की ओपनिंग सेरेमनी श्रीनगर में होगी. जबकि इसका समापन जम्मू में किया जाएगा.

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 9:27 AM IST
जम्‍मू-कश्‍मीर का तरक्‍की की राह में पहला कदम, 12-14 अक्‍टूबर को होगा ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स समिट
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने के बाद अब वहां निवेश को बढ़ावा देने के लिए बड़ी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने की तैयारी की जा रही है.
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 9:27 AM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्‍छेद-370 (Article-370) हटाने के बाद केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (PM Narendra Modi Government) ने दावा किया था कि इससे सूबे के विकास में बहुत मदद मिलेगी. अब जम्‍मू-कश्‍मीर भी देश के साथ विकास की राह में कदम से कदम मिलाकर चलेगा. सूबे ने इस दिशा में पहला कदम उठा लिया है. जम्‍मू-कश्‍मीर में 12 से 14 अक्‍टूबर, 2019 तक ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स समिट (Global Investors Summit) होने वाला है. यह पहली बार होगा जब सूबे में निवेश आकर्षित करने के लिए इतने बड़े कार्यक्रम का आयोजन करने की योजना बनाई गई है.

'दिन-रात मेहनत करके समिट के सफल बनाएगा जम्‍मू-कश्‍मीर'
जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव (वाणिज्य व उद्योग) एनके चौधरी ने बताया कि इन्वेस्टर्स समिट का अयोजन 12 से 14 अक्टूबर के बीच होगा. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने के बाद अब वहां निवेश को बढ़ावा देने के लिए बड़ी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने की तैयारी की जा रही है. उन्‍होंने कहा कि आमतौर पर ऐसे समिट आयोजित करने के लिए 6-8 महीने की तैयारी की जाती है, लेकिन जम्मू-कश्मीर दिन-रात मेहनत करके कम समय में भी इस कार्यक्रम को सफल बनाएगा.

श्रीनगर में ओपनिंग तो जम्‍मू-कश्‍मीर में होगी क्‍लोजिंग सेरेमनी

चौधरी ने बताया कि इन्वेस्टर्स समिट की ओपनिंग सेरेमनी श्रीनगर में होगी, जबकि इसका समापन जम्मू में किया जाएगा. सूबे के अन्य इलाकों को समिट में शामिल करने के लिए सेमिनार और वर्कशॉप आयोजित की जाएंगी. इसकी तैयारी के लिए भले ही हमारे पास कम समय हो, लेकिन इसे सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी‌. उन्‍होंने बताया कि केंद्र सरकार, राज्य सरकारों, व्यापार और उद्योग जगत के दिग्गजों को इस समिट का निमंत्रण भेजा जाएगा.

जम्‍मू-कश्‍मीर के प्रधान सचिव (वाणिज्य व उद्योग) चौधरी ने बताया कि समिट में 2000 से ज्यादा निवेशों को निमंत्रण भेजा जाएगा.


CII समेत कई संस्‍थाओं को बनाया गया है समिट में साझेदार
Loading...

प्रधान सचिव (वाणिज्य व उद्योग) चौधरी ने बताया कि समिट में 2000 से ज्यादा निवेशों को निमंत्रण भेजा जाएगा. सीआईआई समेत कई संस्थाओं को समिट के लिए पार्टनर बनाया गया है. उन्होंने बताया कि समिट को सफल बनाने के लिए देश भर में भी कई कार्यक्रम किए जाएंगे. अहमदाबाद, चेन्नई, बेंगलुरु, मुंबई में रोडशो का आयोजन किया जाएगा. वहीं, दिल्ली में एक मेगा रोडशो भी होगा. दिल्ली में एक एंबेसडर मीट और मेगा मीडिया इवेंट भी होगा.

स्‍थानीय कारोबार और स्टार्ट-अप को मुहैया कराया जाएगा मंच
चौधरी ने बताया कि समिट में कृषि, हेल्थकेयर, मैन्यूफैक्चरिंग, टूरिज्‍म जैसे सेक्टर पर जोर दिया जाएगा. इसका मतलब यह नहीं है कि जिन सेक्टर्स का जिक्र नहीं किया गया है, उनको तवज्जो नहीं दी जाएगी. समिट में निवेश के बारे में जानकारी दी जाएगी. साथ ही स्‍थानीय कारोबार और स्टार्ट-अप को भी मंच मुहैया कराया जाएगा, ताकि वे दुनिया को अपनी योजनाओं के बारे में बता सकें.

ये भी पढ़ें: 

कश्मीर पर फिर अलग-थलग पड़ा पाक, कुरैशी बोले- किसी ने नहीं दिया हमारा साथ

केंद्र से हरी झंडी मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर में होगा परिसीमन, चुनाव आयोग ने शुरू की तैयारी
First published: August 14, 2019, 9:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...