जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हमला, CRPF के 6 जवान शहीद, 1 आतंकवादी ढेर

सीआरपीएफ सूत्रों ने बताया कि यह घटना केपी जनरल बस स्टेड के पास उस वक्त हुई जब वाहन में बैठे आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोली चलानी शुरू कर दी.

News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 11:37 PM IST
जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हमला, CRPF के 6 जवान शहीद, 1 आतंकवादी ढेर
जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में हुए आतंकी हमले में 5 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए हैं
News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 11:37 PM IST
जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में हुए एक आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के छह जवान शहीद हो गए हैं, पुलिस का कहना है कि उन्होंने एक आतंकवादी को मार गिराया है. सीआरपीएफ सूत्रों ने बताया कि यह घटना केपी जनरल बस स्टेंड के पास घटी. वाहन में बैठे आतंकवादी ने सुरक्षाबलों पर अचानक गोली चलानी शुरू कर दी.

सीआरपीएफ के जवानों को कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए ड्यूटी पर तैनात किया गया था. घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती किया गया है. आतंकी संगठन अल उमर मुजाहिदीन ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है. जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने भी इस हमले की कड़ी निंदा की है. महबूबा ने ट्वीट कर कहा कि ऐसे हमले की कड़ी निंदा करती हूं, मेरा दिल शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के परिवारों के लिए दुआ कर रहा है.





हमले में सीआरपीएफ के एएसआई नेहरू शर्मा, कॉन्सटेबल सतेन्द्र शर्मा, कॉन्सटेबल एमके कुशवा शहीद हो गए हैं. घायलों में एसएचओ अनंतनाग अरशद अहमद की हालत गंभीर बताई जा रही है. उन्हें उपचार के लिए श्रीनगर ले जाया गया है. जबकि किदार नाथ, राजेंद्र सिंह का अनंतनाग के जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है. हमले में 18 वर्षीय एक स्थानीय  महिला भी घायल हुई है, जिसकी पहचान स्नोबर जैन के तौर पर हुई है.

#WATCH Jammu & Kashmir: Gunshots heard at the site of Anantnag terrorist attack in which 3 CRPF personnel have lost their lives & 2 have been injured, SHO Anantnag also critically injured. 1 terrorist has been neutralized in the operation. (Visuals deferred by unspecified time) pic.twitter.com/Uspen8iC4p


Loading...

अल उमर मुजाहिदीन ने ली हमले की जिम्मेदारी

आतंकवादी संगठन अल उमर मुजाहिदीन ने इस हमले की जिम्मदारी ली है. आतंकी संगठन ने पांच सुरक्षाकर्मियों को मारने का दावा किया है. अल उमर मुजाहिद्दीन इस तरह के हमले जारी रखने की धमकी दी है.

सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया है.


खुफिया एजेंसियों सूत्रों के मुताबिक इस हमले के पीछे अल उमर मुजाहिद्दीन आतंकी गुट का हाथ जो इस हमले का दावा भी कर रहा है. ये संगठन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट का ब्रेक अवे फैक्शन है जो कि 1989 में उससे अलग हुआ था. पिछले कई सालों से यह संगठन लगभग निष्क्रिय था और इस हमले का अब वह दावा कर रहा है. खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के मुताबिक इस तरीके के हमले कर आतंकी अमरनाथ यात्रा से पहले घाटी में अपनी सशक्त मौजूदगी का दर्ज कराने की फिराक में है.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में फरवरी में एक फिदायीन हमलावर ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला बोला था, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...